पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सोमवारिया जैन मांगलिक भवन:मन में अध्यात्म है, अच्छे गुण हैं तो आप पवित्र हैं : आचार्यश्री

जावरा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आप शरीर को कितना भी संवार लें, सजा लें, अच्छे वस्त्र पहन लें लेकिन इससे उसकी पवित्रता का पता नहीं चलता। अगर मन में अध्यात्म है, अच्छे गुण हैं तो आप पवित्र हैं। अन्यथा सुबह स्नान करें, अच्छा खाना खाएं, कपड़े पहनें, लिपिस्टिक लगाएं लेकिन आपका शरीर अपवित्र है। उसके संपर्क में आने वाली हर चीज अपवित्र हो जाती है। हम शरीर को रत्नत्रय से पवित्र कर सकते हैं। यह बात अहिंसा तीर्थ प्रणेता आचार्यश्री प्रमुखसागरजी ने सोमवार जैन मांगलिक भवन में धर्मसभा में कही। उन्होंने कहा रक्षाबंधन के दिन जनेऊ पहनने का प्रयास करें। छोटे बच्चों को संस्कार देने का प्रयास करें। जब धोखा देने की बात आएगी तो सबसे पहले आपका शरीर धोखा देगा। जानकारी चातुर्मास समिति प्रवक्ता रितेश जैन ने दी।

राेज हो रहे नवकार महामंत्र के जाप
उपप्रवर्तक अरुणमुनिजी, सेवाभावी सुरेशमुनिजी आदि ठाणा-2 की निश्रा में समाजजन जप-तप में लगे हुए हैं। गुरुदेव की प्रेरणा से सुबह 9 से 10 बजे तक दिवाकर भवन पर महामंत्र नवकार के जाप चल रहे हैं। प्रतिमाह की सुदी की तेरस को जैन दिवाकर, जगत वल्लभ चौथमलजी के जाप होते हैं। जाप की शृंखला में तेरस के जाप सुबह 10 से 10.30 बजे तक हुए। लाभार्थी दीपचंद, मनोज, संयम डांगी परिवार थे। धर्मसभा का संचालन कोषाध्यक्ष महावीर छाजेड़ ने किया। श्रीसंघ अध्यक्ष इंदरमल टुकड़िया, उपाध्यक्ष ओमप्रकाश श्रीमाल, महामंत्री कनकमल चौरड़िया ने समाजजन से राेज जाप में शामिल होने का अाह्वान किया।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें