पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रक्षाबंधन पर्व:कल सावन का आखिरी सोमवार, सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी राखी

जावरा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कल सावन के आखिरी सोमवार के साथ ही रक्षाबंधन पर्व भी मनाया जाएगा। सोमवार और रक्षाबंधन के त्याेहार का यह दुर्लभ संयोग है। कहते हैं कि इस दिन उपवास रखने से पूजा का फल दोगुना मिलता है। मान्यता है कि सावन के आखिरी सोमवार के दिन भगवान शिव और माता पार्वती धरती का भ्रमण करने के साथ ही अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं। सोमवार को पूर्णिमा तिथि का भी शुभ संयोग बन रहा है। सोमवार सुबह 9.29 बजे तक भद्रा रहेगी। इसके बाद बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षासूत्र बांधेंगी। इस बार सावन के पांच सोमवार हैं और आखिरी सोमवार के साथ ही श्रावण का समापन होगा। अंतिम दिन शिवालयों में भक्तों की भीड़ जुटेगी। पूजा-पाठ के साथ अभिषेक होंगे। शाम को विशेष शृंगार होगा। आरती कर प्रसादी बांटी जाएगी। श्रावण मास की पूर्णिमा सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ बन रहा है। ऐसा संयोग 29 साल पहले बना था। इस बार कोविड-19 के चलते रक्षाबंधन का पर्व फिका रहेगा। भाई-बहनों का अटूट प्रेम फिर भी बरसेगा। बहनें शुभ मुहूर्त में भाइयों की कलाई पर राखी बांधेंगी।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें