खरीदी / जीरन मंडी में गेहूं के समर्थन से भी कम भाव मिलने से किसान निराश

Farmers disappointed at Jeeran Mandi for lower price than wheat support
X
Farmers disappointed at Jeeran Mandi for lower price than wheat support

  • खुली नीलामी में अच्छी क्वालिटी का गेहूं भी 1725 रुपए क्विंटल में बिका
  • सरकार ने समर्थन मूल्य 1925 रुपए प्रति क्विं. तय किया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

जीरन. लॉकडाउन के कारण 22 मार्च से नगर की उप कृषि उपज मंडी बंद थी। उपज नहीं बेचने के कारण किसानों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। लॉकडाउन 4 में कलेक्टर जितेंद्रसिंह राजे ने मनासा, जावद बाद जीरन उप मंडी को भी शुरू कर क्षेत्र के किसानों को राहत दी। शुक्रवार से उप मंडी में गेहूं की खरीदी शुरू हुई। मंडी में क्रम से प्रवेश दिया तथा वाहन में ही उपज की खुली नीलामी हुई। जीरन तहसील के सभी गांवों का रोस्टर अनुसार दिन निर्धारित कर किसानों को सूचना दी जा रही है। उच्च क्वालिटी का गेहूं 1725 रुपए क्विंटल में नीलाम हुआ। जो समर्थन मूल्य से 200 रुपए कम है। 
पालसोड़ा के मदनलाल ने बताया कि सूचना मिलने पर सुबह गेहूं से भरी ट्रॉली लेकर मंडी में पहुंचे। जहां खुली नीलामी में अच्छी क्वालिटी के गेहूं भी 1725 रुपए क्विंटल में नीलाम हुए। जबकि सरकार ने समर्थन मूल्य 1925 रुपए प्रति क्विंटल तय कर रखा है। कम भाव मिलने से निराशा हुई है। जीरन के मोहननाथ कहा कि गेहूं के भाव 1685 रुपए क्विंटल ही मिले। जो समर्थन मूल्य से 240 रुपए प्रति क्विंटल कम मिले। मंडी सेक्रेट्री राहुल और अध्यक्ष राम प्रहलाद राठौर ने कहा कि पूरा प्रयास रहेगा कि ज्यादा से ज्यादा किसान मंडी में उपज लेकर आए। गाइडलाइन अनुसार किसानों को सुविधा मुहैया कराई जाएगी। 

ये नियम लागू किए

  • ट्राॅली में ही उपज की नीलामी होगी।
  • रोस्टर अनुसार तारीख को ही किसान उपज लेकर आए।
  • वाहन में ड्राइवर के साथ एक किसान को ही प्रवेश दिया जाएगा।
  • वाहनों को सुबह 6 से 11 बजे तक ही प्रवेश मिलेगा।
  • किसान अपने साथ ऋण पुस्तिका, आधार कार्ड, बैंक पासबुक लेकर आएं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना