पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धरना:आशा एवं सहयोगियों ने मानव शृंखला बनाकर जताया विरोध

मंदसौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी के समय में घर-घर जाकर सेवाएं देने वाली आशा एवं आशा सहयोगियों ने मांगों को लेकर आवाज तेज की है। अाशा एवं आशा सहयोगी संगठन ने शुक्रवार को गांधी चौराहा पर रैली निकालकर विरोध दर्ज कराया।

इसके बाद बड़ी संख्या में आशा, उषा एवं सहयोगियों ने गांधी चौराहा पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मानव शृंखला बनाकर मांगों को लेकर विरोध दर्ज कराया। चौराहा पर आने जाने वालों को बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इन्होंने बताया कि सरकार ने हमारी मांगें नहीं मानी तो आंदोलन तेज किया जाएगा।

1250 आशा कार्यकर्ता एवं 80 सहयोगिनी हड़ताल पर : आशा-उषा सहयोगी जिलाध्यक्ष माधूरी सोलंकी ने बताया कि हम मांगों को लेकर 15 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। पहले हम मंदसौर में ही विरोध कर रहे थे अब मल्हारगढ़, धुंधड़का, सीतामऊ, मेलखेड़ा की आशा व सहयोगी भी हड़ताल में शामिल हो गई हैं।

इसमें जिले की 1250 आशा कार्यकर्ता एवं 80 सहयोगिनी हड़ताल पर हैं। इससे बच्चों का सामान्य टीकाकरण नहीं हो रहा है। सोलंकी ने बताया कि टीकाकरण के लिए हम ही घर-घर जाती हैं। सभी हड़ताल पर हैं तो शुक्रवार को सामान्य टीकाकरण नहीं हुआ। वहीं वैक्सीनेशन का कार्य भी प्रभावित होगा।

खबरें और भी हैं...