शीतलहर:फिर छाए बादल, कोहरे से 3 दिन ऐसा ही मौसम रहने के आसार

मंदसौर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिनभर नहीं निकली धूप, हालांकि न्यूनतम तापमान में 0.6 डिग्री तो अधिकतम में मात्र 0.1 डिग्री की तेजी रही

जिले में रविवार को भी मौसम खराब रहा। सुबह ओस से सड़कें गीली हो गईं। रविवार को दिनभर बादलों का धनत्व अधिक रहा। इससे कोहरे का असर देर शाम तक रहा। दिनभर धूप नहीं निकली। हालांकि इससे तापमान में कोई ज्यादा अंतर नहीं दिखाई दिया। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार बादल ज्यादा घने हो गए हैं। इससे करीब तीन दिन मौसम साफ होने की उम्मीद नहीं दिख रही है। रविवार सुबह की शुरुआत भी बादल व कोहरे के साथ हुई। सुबह घना कोहरा छाया रहा। सुबह ओस की वजह से सड़कें तक गीली हो गईं। हवा में भी नमी का अहसास हुआ। रविवार को बादल भी अधिक घने रहे। इससे दिन भर धूप नहीं निकली व कोहरे का असर दोपहर दो बजे तक भी देखा गया। दोपहर बाद हवा चलने से ठंड का अहसास भी अधिक हुआ। हालांकि तापमान में ज्यादा अंतर नहीं दिखाई दिया। न्यूनतम तापमान में 0.6 डिग्री तो अधिकतम तापमान में मात्र 0.1 डिग्री की तेजी दर्ज हुई। शनिवार को शहर में अधिकतम तापमान 21.9 डिग्री दर्ज हुआ जो रविवार को 20 डिग्री रहा। न्यूनतम तापमान 16 डिग्री से बढ़ कर 16.6 डिग्री दर्ज हुआ।

बादल ज्यादा घने होने से बढ़ रही है मावठे की संभावना

मौसम वैज्ञानिक डॉ. एस.एन. मिश्रा ने बताया कि दो दिन में बादल उम्मीद से ज्यादा घने हो गए हैं। इसका मतलब उत्तर की तरफ से हवाएं आ रही हैं। दो से तीन दिन मौसम साफ होता नहीं दिख रहा है। अब एक-दो दिन में यह बादल कहीं ना कहीं बरसेंगे। इससे मावठे की संभावना बढ़ रही है। वहीं हवाएं तेज होती हैं तो बादल बिखर सकते हैं। किसी भी स्थिति में दो दिन पहले तक मौसम साफ होता नहीं दिख रहा है। 13 जनवरी के बाद ही मौसम साफ होने के साथ ठंड का असर तेज होने की संभावना है।

सलाह : किसान रहेें सतर्क, दवाइयां छिड़कें
डॉ. मिश्रा ने बताया कि कुछ दिन पहले हुई बारिश की वजह से जमीन में नमी है। वहीं बादल बने होने से फसलों में जड़ सड़न की समस्या व कीट की समस्या निश्चित ही बढ़ेगी। जड़ों में ऑक्सीजन की कमी से पत्ते पीले पड़ने लगते हैं। इसके लिए किसान सतर्क रहें। फसलों में किसी भी तरह की खराबी होने पर कृषि वैज्ञानिक से चर्चा करें। उचित दवाइयों का समय-समय पर छिड़काव करें।

खबरें और भी हैं...