पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महंगाई:नासिक में प्याज का उत्पादन कम होने से घटी आवक, भाड़ा भी अधिक, नतीजा : बढ़े दाम

मंदसौर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंडी में रोज 300 से 400 बोरी प्याज आ रहा, थोक में 15 से 35 रुपए किलो पर पहुंचे भाव

नासिक में प्याज की फसल कम होने, डीजल के दाम और भाड़ा अधिक होने व जिले में रबी का प्याज नहीं आने से प्याज के दामों उछाल शुरू हो गया है। वर्तमान में मंडी में थोक प्याज के दाम 15 रुपए से 35 रुपए किलो हैं। यह बाजार में आम लोगों तक 20 से 50 रुपए किलो में मिल रहा है। मंडी व्यापारियों के अनुसार नासिक में प्याज का उत्पादन कम होने व रबी की फसल में देरी से दाम बढ़ रहे हैं। एक माह में दाम सामान्य हो जाएंगे।

पेट्रोल- डीजल के दाम में तेजी के साथ प्याज भी रुलाने लगा है। कुछ समय पहले ही प्याज के दाम से लोगों को राहत मिली थी लेकिन वापस दाम आसमान पर पहुंचने लगे हैं। मंडी व्यापारी मुकेश शर्मा, अशोक अग्रवाल ने बताया कि इस बार नासिक में हमेशा की तरह उत्पादन नहीं हुआ है। जिले में खरीफ के लाल प्याज ज्यादा समय चलते नहीं हैं इसलिए उनकी आवक भी खत्म हो गई। वर्तमान में मंदसौर मंडी में रोज मात्र 300 कट्‌टे के आसपास ही प्याज आ रहा है।

वहीं महाराष्ट्र से कुछ प्याज आ रहा उसमें 1 हजार से 1500 रुपए भाड़ा अधिक लग रहा है। आवक कम होने व मांग बनी रहने से मंडी में प्याज के दाम अधिक हो गए हैं। गुरुवार को मंदसौर मंडी में 352 कट्‌टे प्याज के आए। जो न्यूनतम 1500 से 3500 रुपए क्विंटल में बिका। मंडी व्यापारियों के अनुसार 15 मार्च तक रबी का प्याज आने लगेगा। उसके बाद दाम सामान्य होने की संभावना है।

जिले में स्टोरेज की व्यवस्था नहीं
मंडी व्यापारी मुकेश शर्मा ने बताया कि खरीफ का जो लाल प्याज आता है व लंबे समय नहीं चलता है। ऐसे में अभी जो आवक हो रही थी वह सभी माल बाहर जा रहा था। अब मंडी में आवक नहीं है, नासिक से भी माल कम ही आ रहा। जिले में प्याज के स्टॉक की व्यवस्था नहीं होने से यह स्थिति बनती है।

1000 से 1500 रु. भाड़ा बढ़ गया
सब्जी मंडी व्यापारी संघ अध्यक्ष भगवानदास मेघनानी ने बताया कि अभी जिले का प्याज ना के बराबर आ रहा है। कुछ प्याज नासिक से आ रहा है, वहां भी उत्पादन कम हुआ जिससे पहले ही दाम अधिक हैं। इसके बाद एक ट्रक पर 1 हजार से 1500 रुपए भाड़ा अधिक हो गया है। ट्रांसपोर्ट वाले अभी और दाम बढ़ाने की बात कह रहे हैं। ऐसे में प्याज- सब्जी सभी पर इसका असर पड़ रहा है।

फुटकर बाजार में प्याज के दाम

छोटे प्याज 15 दिन पहले 15 से 20 रु. किलो बड़ा प्याज 15 दिन पहले 25 से 30 रु. किलो गुरुवार को छोटा प्याज के दाम 20 से 25 रु. किलो गुरुवार को बड़े प्याज के दाम 35 से 40 रु. किलो

दाम को लेकर चिंता की कोई बात नहीं है
^खरीफ का प्याज अक्टूबर, दिसंबर व जनवरी तक आता है। इसकी आवक कम हो गई वहीं बाहर से प्याज की आवक कम हो रही है इसलिए दाम बढ़ रहे हैं। मार्च से रबी का प्याज आने लगेगा उसके बाद दाम वापस सामान्य होने लगेंगे। चिंता की कोई बात नहीं है।
मनीष चौहान,
उपसंचालक उद्यानिकी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें