त्योहार खत्म, प्रशासन सख्त:5 साल से दबा रखी 8 करोड़ रुपए की सरकारी जमीन से हटाया अतिक्रमण

मंदसौर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशासन ने कृषि मंडी के सामने नाले से हटाया अतिक्रमण, 6 घंटे चली पोकलेन व जेसीबी। - फोटो : सचिन जैन - Dainik Bhaskar
प्रशासन ने कृषि मंडी के सामने नाले से हटाया अतिक्रमण, 6 घंटे चली पोकलेन व जेसीबी। - फोटो : सचिन जैन

ऑपरेशन माफिया के अंतर्गत जिला प्रशासन ने शनिवार से ही स्थायी अतिक्रमण हटाने की शुरुआत कर दी है। कृषि मंडी के सामने शासकीय नाले की करीब 8 हजार वर्गफीट जमीन से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। इसकी कीमत करीब 8 करोड़ रुपए है।

अतिक्रमण हटाने के लिए 6 घंटे पोकलेन व जेसीबी चली। मामले में कांग्रेस ने आरोप लगाया कि व्यापारियों का अतिक्रमण दिखा लेकिन भूमाफिया का अतिक्रमण चिह्नित करने से प्रशासन बच रहा है। प्रशासन दावा कर रहा है कि अब अभियान निरंतर जारी रहेगा।

दीपावली के बाद जिला प्रशासन भूमाफिया के खिलाफ फिर सक्रिय हो गया है। भाईदूज पर शनिवार सुबह से प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी। कृषि मंडी के सामने हाईवे किनारे शासकीय नाले पर बने शोरूम व दुकानों पर कार्रवाई की। अतिक्रमण हटाने के लिए एसडीएम बिहारी सिंह, तहसीलदार मुकेश सोनी, राजस्व टीम व पुलिस-प्रशासन के साथ सुबह 9.30 बजे मौके पर पहुंचे।

10 बजे प्रशासन ने एक जेसीबी व एक पोकलेन की मदद से स्थायी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की जो करीब 6 घंटे जारी रही। इस दौरान प्रशासन ने 4 दुकानें, एक शोरूम व अस्थायी अतिक्रमण भी हटाया। प्रशासन ने यहां से करीब 8 हजार वर्गफीट अतिक्रमण हटाते हुए 8 करोड़ की शासकीय जमीन को मुक्त कराया। यहां 5 साल से अधिक समय से अतिक्रमण था।

ऑपरेशन माफिया : कार्रवाई कर 8 हजार वर्गफीट जमीन को कराया मुक्त

10 साल से लगातार हो रहा है अतिक्रमण
भाटी ने कहा कि प्रशासन ने जो अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। इसी नाले पर दोनों तरफ नाले की जमीन पर कई दुकानों का पक्का निर्माण हो गया है। यह कार्य लगभग दस सालों से हो रहा है। इसमें राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ ही पटवारियों की भी मिलीभगत रही।

नपा स्वयं की जमीन नहीं छुड़वा पा रही
कलेक्टर कार्यालय ने 4 जनवरी 2020 को आदेश जारी करते हुए मंदसौर नगरपालिका सीएमओ को गांधी चौराहा स्थित नपा के गैरेज की जमीन पर कब्जा प्राप्त करने को कहा था। मंदसौर नपा आज तक स्वयं की जमीन पर कब्जा नहीं ले सकी। मामले में पूर्व पार्षद पति शैलेंद्रगिरी गोस्वामी ने कलेक्टर गौतम सिंह को भी जानकारी दी है।
कांग्रेस का आरोप : जिला प्रशासन ने पक्षपात पूर्ण कार्रवाई की
जिला कांग्रेस प्रवक्ता सुरेश भाटी ने कहा कि जिला प्रशासन ने जिस प्रकार से दीपोत्सव के दौरान मंडी के सामने अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को अंजाम दिया। उसके चलते अनेक प्रश्न खड़े हो रहे हैं। मुख्य रोड को क्रॉस करते हुए नाले पर दोनों ओर अतिक्रमण हैं। मंडी के समांतर दूसरी ओर नाले पर निर्मित विभिन्न दुकानों को प्रशासन ने अभयदान देने का कार्य किया है। प्रशासन पूरे नाले पर नपती कराते हुए समान रूप से कार्रवाई करता तो समझ आता लेकिन पक्षपात पूर्ण से कार्रवाई की। शिवराज सरकार कमलनाथ सरकार की नकल करने की कोशिश तो कर रही है लेकिन कार्यप्रणाली निष्पक्ष नहीं कर पाई है जो सवालों के घेरे में है।
एक सप्ताह तक इसी क्षेत्र में कार्रवाई जारी रहेगी

  • कलेक्टर के निर्देश पर कार्रवाई की है। यह निरंतर जारी रहेगी। इसके लिए पटवारी व राजस्व अमले को शहर के मध्य से गुजर रहे हाईवे व मंडी रोड पर शासकीय जमीन को चिह्नित करने के निर्देश दिए हैं। एक सप्ताह इसी क्षेत्र में कार्रवाई जारी रहेगी। इसके बाद शहर व आसपास के पांच किमी एरिया में शासकीय जमीनों को चिह्नित कर अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा। शहर में भी नगरपालिका के साथ अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करेंगे। -मुकेश सोनी, तहसीलदार, मंदसौर​​​​​​​
खबरें और भी हैं...