पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नाराजी:आधी रोटी, आधा पेट, संविदा जीवन चढ़ गया भेंट संविदा स्वास्थ्यकर्मियों ने किया प्रदर्शन, दिया नारा

मंदसौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सालों से नियमितिकरण की मांग कर रहे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी, आंदोलन की दी चेतावनी

प्रदेशभर में कोविड में ड्यूटी कर रहे संविदा कर्मचारियों ने आधी रोटी के साथ प्रदर्शन किया। संविदा कर्मचारियों ने बताया शासन उन्हें पेट भर खाने लायक वेतन एवं सुविधाएं भी नहीं दे रहा। वेतन भी उतना ही मिलता है कि परिवार को आधी रोटी ही नसीब हो सके इसलिए आधी रोटी के साथ प्रदर्शन किया जा रहा है। संगठन के विपिन सक्सेना ने बताया वर्ष 2018 में कर्मचारियों ने 42 दिन का आंदोलन किया था, स्वयं मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने यह स्वीकार किया था कि संविदा शोषण की व्यवस्था है, एक अभिशाप है इसे बदला जाना चाहिए और इसी मंशा के साथ 5 जून 2018 को एक संविदा नीति बनाई गई थी जो कई विभागों में लागू भी की गई लेकिन स्वास्थ्य कर्मचारियों को इस नीति से भी आज तक वंचित रखा गया। अपनी जान दांव लगाकर लोगों की कोविड से जान बचाने वाले संविदा कर्मचारी आज भी उस नीति के लागू होने की प्रतीक्षा में है। इस नीति के तहत सभी संविदा कर्मचारियों को रेगुलर कर्मचारी के 90 प्रतिशत वेतन दिया जाना था, जो कि आज तक नहीं दिया गया। संविदा कर्मचारी ईपीएफ, बीमा, पेंशन, अनुकंपा जैसी सुविधाओं से वंचित रहकर अल्प वेतन में 10 से 20 वर्षों से स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत हैं, लगातार नियमितिकरण की मांग भी करते रहे हैं लेकिन आज तक सुनवाई नहीं हुई। यहां तक कि कोविड में कर्तव्यरत होकर अपनी जान गंवाने वाली हमारी साथी को आज तक शासन द्वारा घोषित 50 लाख की राशि तक प्रदान नहीं की गई। अपनी मांग को दोहराते हुए आज पूरे जिले में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने आधी रोटी के साथ प्रदर्शन किया। संविदा कर्मचारियों का कहना है अब शासन द्वारा मिलने वाली इस आधी रोटी से हमारा एवं हमारे परिवार का पेट नहीं भरता, शासन अविलंब नियमितिकरण की मांग पूरी करें और यदि ऐसा नहीं होता है तो हम हड़ताल जैसे आंदोलन के लिए अग्रसर होंगे। केवल मानवता की रक्षा के लिए आज काम पर रहते हुए यह आंदोलन किया जा रहा है। इसके बदले में सरकार को भी मानवता दिखानी होगी, यदि सरकार मानवता नहीं दिखाती है तो हमें भी आंदोलन का रास्ता अपनाना होगा। कोरोना महामारी के संक्रमण के दौर में जहां संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी आम जनमानस का जीवन बचाने में लगे हुए हैं यदि काम बंद कर देते हैं तो इसके परिणाम भयावह हो सकते हैं, जिसका संपूर्ण उत्तरदायित्व मप्र शासन का होगा। प्रदर्शनकारियों ने आधी रोटी आधा पेट, संविदा जीवन चढ़ गया भेंट के नारे लगाते हुए प्रदर्शन किया।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें