पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कहानी थोड़ी हटकर:शुरुआती तीन साल में मैंस एग्जाम भी नहीं निकाल सका था, पर हार नहीं मानी, आखिरी अवसर में मिली सफलता : अभिनव

मंदसौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ‘‘जमीनी स्तर पर जनता के लिए बहुत करना है काम इसलिए इंजीनियरिंग छोड़ सिविल सेवा की चुनी राह’’

यूपीएससी की सूची में 238वीं रैंकिंग प्राप्त जिले के गरोठ निवासी अभिनव चौधरी की कहानी थोड़ी हटकर है। पिता राजेश चौधरी व्यवसायी होकर पूर्व में नगर परिषद के अध्यक्ष रह चुके हैं। परिवार शिक्षित होकर संयुक्त है। अभिनव के अलावा उनकी तीनों बहनें भी सर्विस में हैं। बड़ी बहन नम्रता जयपुर में कैंसर सर्जन तो श्रद्धा पुणे में इंजीनियर हैं। इसी तरह अभिनव की छोटी बहन अदिति कनाड़ा की यूनिवर्सिटी ऑफ मेकगिल से इकोनॉमिस्ट में मास्टर्स हैं। अभिनव चयन से नगर में हर्षोल्लास है।

अभिनव का भोपाल टू दिल्ली वाया पुणे के बाद सिविल सेवा का सफर
अभिनव ने 2008 में नगर से सीबीएसई बोर्ड की 12वीं उत्तीर्ण की। 2008 से 2012 तक भोपाल में इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। कैंपस प्लेसमेंट से पुणे स्थित मोटर कंपनी में सालभर मैकेनिकल इंजीनियर रहे। 2014 में यूपीएससी की तैयारी के लिए दिल्ली गए। यहां 2014 में पहली बार और 2015 में दूसरी बार एग्जाम दी। दोनों में प्री-टेस्ट तक ही सफलता मिली। 2016 में प्री भी नहीं निकाल पाए। 2017 में प्री, मैंस निकालकर इंटरव्यू दिया। इसके बाद 18 और अब 19 में तीसरी बार इंटरव्यू दिया था। आखिरी मौके पर अभिनव को सफलता मिली पाई।

‘कभी भी निगेटिव सोच नहीं रखी’
अभिनव का कहना है कि 6 साल की तैयारी के दौरान शुरुआती तीन साल में मैंस एग्जाम भी नहीं निकाल सका था। चौथी बार एग्जाम दी, जिसमें इंटरव्यू तक पहुंच सका। पांचवीं बार में इंटरव्यू देने के बाद भी सिलेक्शन नहीं हुआ। यूपीएससी केवल 6 बार का मौका देती है, यहआखिरी अवसर था और सिलेक्शन हो गया। अभिनव बताते हैं कि 6 साल में कभी हार नहीं मानी, हमेशा पॉजिटिव सोच रखी जिसके बूते सफलता मिल सकी है। मैं तैयारी के 6 साल तक बेरोजगार रहा लेकिन परिवार ने हर तरह से सपोर्ट किया।

इंटरव्यू में पूछा था किसान को जैविक खेती के लिए कैसे कन्वेंश करोगे
अभिनव ने बताया कि इंटरव्यू के लिए पहुंचा तो बोर्ड के चेयरमैन ने एक सवाल पूछा, उसी सवाल का जवाब मेरी सफलता का मुख्य हिस्सा बना। पूछा कि किसी किसान को जैविक खेती के लिए कन्वेंश करना हो तो क्या करोगे। सवाल के जवाब में मैंने - पहले तो जैविक खेती करने वाले किसानों से उन्हें रूबरू करवाकर उनकी सफलता से रूबरू करवाना। दूसरा जैविक खेती को किस तरह मार्केट प्रॉफिट (लाभ का धंधा) से जोड़ा जाए यह किसान को बताना है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें