पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बोले:राम मंदिर आंदोलन के कारसेवक पंडित जोशी 90-92 में रहे सहभागी

मंदसौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आज सालों का इंतजार पूरा होने जा रहा है

समीपस्थ ग्राम जेतपुरा के संगीत कथावाचक पंडित ओंकारलाल जोशी जो कि बाबरी मसजिद विध्वंस में शामिल रहे हैं। इन्होंने ढांचा गिराते वक्त अपने सिर पर चोट खाई और 17 टांके आए। आज जब रामजी को 28 सालों बाद अपना घर फिर मिलने जा रहा है तो पंडित जोशी ने बताया कि उनके बरसों का इंतजार खत्म होने जा रहा है। 6 दिसंबर 1992 से लेकर आजतक मन में बस यही आस थी कि राम जन्मभूमि पर जल्द से जल्द भव्य मंदिर का निर्माण हो और आज सालों इंतजार के बाद सपना पूरा होने जा रहा है। जब राम शिला देश में घूमी उसमें भी जोशी सहभागी रहे। उनका गाया भजन जहां रामजी ने लिया है जन्म अयोध्या को कैसे भुलाएंगे हम भी बहुत फेमस हुआ है। जोशी 90 और 92 में हुई कारसेवा में सहभागी रहे, 90 में जहां उन्हें चित्रकूट में ही रोक लिया गया था जबकि 92 में वह ढांचे पर सबसे पहले चढ़े 60 कारसेवकों में शामिल रहे। उन्होंने साध्वी ऋतुंभराजी के भाषण से प्रेरित होकर ढांचे पर चढ़ाई कर दी और पहला गुंबद गिराने के बाद बड़े गुंबद पर चढ़ाई करने के लिए जगह बना रहे थे तब ऊपर से भारी ईट गिर गई और वे घायल हो गए, उस समय मुरलीमनोहर जोशी का भाषण चल रहा था, जोशी मुरली मनोहर जोशी को खून का तिलक करने मंच की तरफ दौड़े, उन्हें फैजाबाद अस्पताल ले जाया गया, जहां उनके सिर पर 17 टांके आए। जब वो सभी के साथ घर नहीं पहुंचे तो लोगों में संदेह पैदा की, कहीं कुछ अनहोनी तो नहीं हो गई पर रामजी की कृपा से सभी कुशल हुआ और 10 दिनों बाद उनकी अस्पताल से छुट्टी हुई। पूरे देश में कर्फ्यू का माहौल था, वो रात्रि में घर पहुंचे थे।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें