पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

समाजसेवियों ने की पहल:साढ़े 3 साल में मुक्तिधाम का कायाकल्प, 150 कुर्सी लगाई

मंदसौरएक दिन पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

रियावन-मावता रोड पर बना मुक्तिधाम जो साढ़े 3 साल पहले बदहाल था, आज वह सुंदर बगीचे के रूप में डेवलप हो गया है। सुख-सुविधाओं के बीच अब वहां लोग टहलने जाते हैं। ये सब मुमकिन हुआ है समाजसेवियों की पहल से। जनप्रतिनिधियों ने भी सहयोग किया। अब लोग मुक्तिधाम समिति से जुड़ रहे है़ और सुविधाओं को बेहतर बनाने की दिशा में काम कर रहे है। साढ़े 3 साल पहले समाजसेवी शैतानमल नाहर अध्यक्ष चुने गए थे। इसके बाद उन्होंने मुक्तिधाम को कायाकल्प बनाने का बी ड़ा उठाया और जनसहयोग लेकर मुक्तिधाम की सूरत बदल दी। पूर्व सांसद डॉ. लक्ष्मीनारायण पांडेय ने काष्ठागृह, विधायक व सांसद निधि से टीनशेड निर्माण कराया गया। छोटी-छोटी आवश्यकताओं की पूर्ति करते हुए सारी सुख-सुविधाएं जुटाईं। परिसर में 150 कुर्सियां लगाई गई हैं। समिति अध्यक्ष नाहर, मुक्तिधाम समिति सीताराम वाक्तरिया ने ग्रामीणों को दान राशि संग्रहित कर पानी की टंकी, नलों की व्यवस्था की। लोगों को बैठने से लेकर सामग्री जुटाने तक की व्यवस्था है। समाजसेवी दशरथसिंह सिसाैदिया, भानुप्रतापसिंह राठौर, जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि सुरेश धाकड़, समरथमल नाहर, रामचंद्र पटेल, बापूलाल बामता, वरदीराम धाकड़, राधेश्याम हमीणा, रणजीतसिंह राठौर सुविधा मुहैया कराने में जुटे हुए हैं। 80 वर्षीय गणेशीलाल नाहर की प्रेरणा से तीन शव दाह गृह, काष्ठागृह, 150 फीट लंबे टीनशेड, स्नानगृह, पेयजल टंकी, तार फेंसिंग, 300 छायादार पाैधे लगाए गए हैं। पूर्व में कई लोगों ने मुक्तिधाम की जगह पर अतिक्रमण कर रखा है। कई बार पंचायत व राजस्व विभाग को अवगत कराया लेकिन किसी ने नहीं सुनी। अब तार फेंसिंग कर सीमा चिह्नित की गई है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज रिश्तेदारों या पड़ोसियों के साथ किसी गंभीर विषय पर चर्चा होगी। आपके द्वारा रखा गया मजबूत पक्ष आपके मान-सम्मान में वृद्धि करेगा। कहीं फंसा हुआ पैसा भी आज मिलने की संभावना है। इसलिए उसे वसूल...

और पढ़ें

Advertisement