पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सिविल डिफेंस वाॅलेंटियर टीम:जापान व इजराइल की तर्ज पर मप्र के 12 जिलों में तैयार होगी हादसे और आपदा से बचाव की टीम

मंदसौर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल सेमिनार में एनडीआरएफ के सदस्य उपकरणों की जानकारी देते हुए।
  • फिलहाल एनडीआरएफ को पहुंचने में लग जाते हैं 2 दिन, वहीं सिविल डिफंेस वाॅलेंटियर टीम तुरंत पहुंचेगी
  • जिले के 10 मास्टर ट्रेनर ब्लॉक व हर गांव में टीम बनाएंगे, जिला व ब्लॉक लेवल पर एनडीआरएफ व अन्य टीमें प्रशिक्षण देंगी

प्रदेश सहित जिले में कहीं भी घटना या दुर्घटना होने पर शासन-प्रशासन को पहुंचने में बहुत समय लग जाता है। इससे जनहानि अधिक हो जाती है। इस समस्या के समाधान के लिए अब मप्र शासन द्वारा इजराइल व जापान की तर्ज पर प्रदेश के 12 जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में सिविल डिफेंस वाॅलेंटियर टीम का गठन किया जा रहा है। इन्हें बस दुर्घटना, बाढ़,

भूकंप सहित सभी प्राकृतिक व मानव निर्मित आपदा के लिए तैयार किया जाएगा। ये पायलट प्रोजेक्ट सफल हुआ तो प्रदेशभर में इसे लागू किया जाएगा। देश-प्रदेश व जिलों में किसी भी तरह की घटना या दुर्घटना से निपटने के लिए शासन ने कई टीमें व विभाग बना रखे हैं। बावजूद उनको समय पर मौके पर पहुंचने में लंबा समय लग जाता है। इससे जनहानि की आशंका अधिक हो जाती है। जैसे गत वर्ष मंदसौर जिला बाढ़ की चपेट में रहा। बचाव के लिए होमगार्ड व आपदा प्रबंधन की टीम कम पड़ गई।

बाढ़ के दाे दिन बाद भोपाल से एनडीआरएफ की टीम मंदसौर पहुंची। तब तक हजारों लोग घरों की छत व अन्य सुरक्षित स्थानों पर भूखे-प्यासे अपनी जान बचाते रहे। इनके बाद भी जिले में करीब 44 लोगों की मौत हो गई। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए मप्र शासन अब प्रदेश के 12 जिलों में जापान व इजराइल की तर्ज पर सिविल डिफेंस वाॅलेंटियर की टीम तैयार कर रहा है। अभी जिले के 10 लोगों को भोपाल में जानकारी दी जा रही है। शुरू में जिले में करीब 50 लोगों की टीम बनाएंगे। इन्हें समय-समय पर जिला व ब्लॉक लेवल पर भोपाल की एनडीआरएफ व अन्य टीमों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रोग्राम सफल हुआ तो जिले के हर गांव में 5 से 10 लोगों की टीम बनाई जाएगी।

जापान व इजराइल में शासन-प्रशासन से पहले टीम पहुंचती है

जिला होमगार्ड कमांडर राजेंद्रसिंह खींची ने बताया कि जापान में भूकंप व अन्य प्राकृतिक आपदाओं का खतरा अधिक रहता है। वहीं इजराइल में बोम्बिंग होती रहती है। ऐसे में वहां की सरकारों ने इसी तरह की टीमें तैयार कर रखी हैं। किसी भी स्थिति में शासन-प्रशासन से पहले आम लोगों की टीम मदद में जुट जाती है। इससे अधिक से अधिक जानें बचाई जाती है। इससे आम लोगों को हर स्थिति से निपटने की अधिक जानकारी होगी।

आम लाेगाें काे ही जाेड़ेंगे, नहीं दिया जाएगा भुगतान

इस तरह की टीमों में लोगों को काेई भुगतान नहीं दिया जाएगा। ये आम लोग होंंगे जिन्हें विशेषज्ञों द्वारा पहाड़ ढहने, अग्निकाण्ड, किसी भी तरह के केमिकल विस्फोट, बाढ़ सहित सभी तरह की प्राकृतिक व मानव निर्मित आपदा से निपटने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। ये आम लोग आसपास के लोगों को किसी भी तरह की आपदा से निपटने के लिए तैयार करेंगे। इससे अधिक से अधिक लोग स्वयं तैयार होंगे।

इन जिलाें काे प्राेजेक्ट में किया शामिल

पायलट प्रोजेक्ट में जिला प्रमुख कलेक्टर रहेंगे। वहीं सचिव होमगार्ड के जिला कमांडर रहेंगे। वहीं जिला नोडल अधिकारी एनसीसी के जिला काे- ऑर्डिनेटर विजयसिंह पुरावत को नियुक्त किया है। उन्हाेंने बताया कि इसे पायलट प्रोजेक्ट के रूप में प्रदेश के 12 जिलों में शुरू किया जा रहा है। इसमें मंदसौर, खरगोन, आगर-मालवा, सिवनी, भिंड, ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल, मुरैना, होशंगाबाद आदि शामिल हैं।

इन जिलाें काे प्राेजेक्ट में किया शामिल

पायलट प्रोजेक्ट में जिला प्रमुख कलेक्टर रहेंगे। वहीं सचिव होमगार्ड के जिला कमांडर रहेंगे। वहीं जिला नोडल अधिकारी एनसीसी के जिला काे- ऑर्डिनेटर विजयसिंह पुरावत को नियुक्त किया है। उन्हाेंने बताया कि इसे पायलट प्रोजेक्ट के रूप में प्रदेश के 12 जिलों में शुरू किया जा रहा है। इसमें मंदसौर, खरगोन, आगर-मालवा, सिवनी, भिंड, ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल, मुरैना, होशंगाबाद आदि शामिल हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें