पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सावन पर कोरोना का साया:गर्भगृह के बाहर से हो सकेंगे पशुपतिनाथ के दर्शन

मंदसौर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सावन के लिए पशुपतिनाथ मंदिर पर साफ-सफाई और सजावट की जारी है। - Dainik Bhaskar
सावन के लिए पशुपतिनाथ मंदिर पर साफ-सफाई और सजावट की जारी है।

भगवान शिव की आराधना का महीना सावन 24 जुलाई से शुरू हाे रहा है। कोरोना के काले बादलाें के साये के चलते पशुपतिनाथ मंदिर में इस साल भी धार्मिक आयोजन नहीं होंगे। भक्त गर्भगृह के बाहर से ही दर्शन कर सकेंगे। पशुपतिनाथ मंदिर प्रबंध समिति सचिव एवं एसडीएम बिहारी सिंह ने बताया तीसरे शनिवार की शाही पालकी व अंतिम सोमवार की शाही सवारी प्रतीकात्मक रूप से ही निकाली जाएगी। मुख्य द्वार पर भीड़ नियंत्रित की जाएगी। एक समय में पांच-दस लोगों को प्रवेश देंगे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य हाेगा।

सावन माह में मंदिर में यह रहेगी व्यवस्था

  • गर्भगृह में भक्तों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
  • भगवान की पूजा व अभिषेक मंदिर के पुजारी करेंगे।
  • सावन में जलाभिषेक की व्यवस्था बंद रहेंगी।
  • भोग प्रसादी मंदिर प्रबंधन द्वारा किया जाएगा।
  • भक्तों की थर्मल स्क्रीनिंग कि जाएगी।

विभागों को दिए निर्देश

मंदिर प्रबंधक ने बताया कि मंदिर में साफ सफाई के लिए नपा को, सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस प्रशासन, नदी क्षेत्र में सुरक्षा के लिए होमगार्ड को निर्देश जारी कर दिए हैं। प्रबंधन कार्यालय द्वारा विद्युत सज्जा एवं चुनरी व फूल सज्जा कराई जा रही है।

मनोकामना अभिषेक भी नहीं होगा
पशुपतिनाथ मंदिर में हर साल सावन में गायत्री परिवार मनोकामना अभिषेक कराए जाते हैं। हर साल गायत्री परिवार प्रशासन के सहयोग से आयोजन करता आ रहा है। हर दिन औसत 300 से 400 लोग भाग लेते हैं। कोरोना के चलते गत वर्ष भी आयोजन नहीं हुआ था। इस साल भी अभिषेक नहीं होगा।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...