पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्ड फ्लू का बढ़ा खतरा:जिले में अब तक 417 कौओं की हो चुकी है मौत, शनिवार को भी 64 मृत मिले

मंदसौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पशु चिकित्सा विभाग की 8 टीमें जिले के विभिन्न हिस्सों में कर रहीं पड़ताल, सैंपल भेजे, रिपोर्ट का इंतजार

मंदसौर में शनिवार को भी अलग-अलग स्थानों पर 64 कौए मृत मिले। इससे पहले एक बगुला व 12 चिड़िया भी दम तोड़ चुकी हैं। इसी तरह शनिवार को सीतामऊ के गांव काचरिया जाट में उल्लू मरा मिला। इनके सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। जिन इलाकों में पक्षियों की मौत हो रही है उन क्षेत्र को सैनिटाइज्ड कर मरे हुए पक्षी काे जलाया या दफनाया जा रहा है। वहीं चिकन के भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट अब तक नहीं आ सकी है। उपसंचालक पशु चिकित्सा विभाग डॉ. मनीष इंगोले ने बताया कि जिले में 8 रैपिड रिएक्शन टीम (आरआरटी) बनाई हैं। इनमें से 2 टीमें शहर व आसपास के गांवों में पूरे समय काम कर रही हैं। बाकी 6 टीमें ग्रामीण क्षेत्रों के लिए हैं। एक टीम में 03 कर्मचारी हैं। लोगों को एहतियात बरतने की जरूरत है। हालांकि पोल्ट्री में बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हो सकी है। सैंपल भेजे गए हैं, रिपोर्ट आने का इंतजार है।

काचरिया जाट में उल्लू तो धुंधड़का में 4 कौए मृत मिले

धुंधड़का| गांव में स्वास्थ्य केंद्र परिसर के भीतर कौएं मृत अवस्था में मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने परिसर में दवाई स्प्रे कराया। बीएमओं डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया चार कौए मृत अवस्था में मिले। पशु चिकित्सक ने 5 फीट गड्ढा कर कर गाड़ दिया। जिस जगह पर कौए मृत अवस्था में मिले। वहां दवाई स्प्रे कराई जा रही हैं। ग्रामीणों को मास्क पहनने की सलाह दी जा रही हैं। इधर, सीतामऊ के गांव काचरिया जाट में उल्लू मरा मिला। जिसके सैंपल लेकर प्रशासन ने जांच के लिए भेजे हैं।

इन्फर्मेशन टू इनसाइट

झालावाड़ में पहले मिला बर्ड फ्लू, मंदसौर नजदीक इसलिए मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा यहीं संक्रमण

मंदसौर में बर्ड फ्लू का संक्रमण राजस्थान से प्रवासी पक्षी लेकर आए। राजस्थान के झालावाड़ में 26 दिसंबर को कौओं में संक्रमण पाया गया। उपसंचालक पशुपालन डॉ. मनीष इंगोले के अनुसार झालावाड़ से मंदसौर की दूरी 157 किमी और नीमच की दूरी 178 किमी है। इससे झालावाड़ से नजदीक मप्र के मंदसौर जिले में संक्रमण का प्रभाव दिखा। तीन दिन बाद 29 दिसंबर को यहां कौओं की मौत होने लगी। 2 जनवरी को जांच में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई। तब से यहां लगातार कौओं की मौत हो रही है। अब तक कौओं की मौत का आंकड़ा 417 पहुंच तक चुका है।

एशिया की एकमात्र लैब इसलिए सैंपलिंग में देरी
डॉ. इंगोले के अनुसार मुर्गियों के सैंपल भेजे दो दिन हो गए लेकिन रिपोर्ट नहीं आ सकी है। इसका कारण बर्ड फ्लू के सैंपलों की जांच के लिए भोपाल स्थित राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा रोग अनुसंधान प्रयोगशाला (निशाद) एशिया की एकमात्र लैब है। यहां मप्र के अलावा पूरे भारत व अन्य देशों से जांच के लिए सैंपल आते हैं। अभी बर्ड फ्लू का संक्रमण कई राज्यों में है इसलिए जांच में देरी हो रही है। शनिवार को 4 दिन बाद शाजापुर जिले की रिपोर्ट आई जिसमें बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई।

लक्षण :पक्षियों में

  • मुर्गी व पक्षी सुस्त हो जाते हैं। कलगी व पैर में नीलापन हो जाता है।
  • आंख, गर्दन एवं सिर के आसपास सूजन। असामान्य रूप से पक्षियों की मौत।
  • आंख एवं नाक से पानी निकलता है व श्वास लेने में तकलीफ होती है।

सावधानी : गड्ढा खोदकर गाड़ दें

  • पक्षी को ग्लब्स व मास्क पहनकर ही उठाए, एप्रिन का इस्तेमाल करें।
  • मृत पक्षी को इधर-उधर न फेंके, उसे गड्ढा खोदकर गाड़ दें।
  • जो ग्लब्स पक्षियों व मुर्गियों को पकड़ने के लिए इस्तेमाल किया हो उसे गाड़ दें।
  • बीमार पक्षियों के संपर्क में आने पर हाथ धोने के बाद ही किसी सामान को हाथ लगाए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

और पढ़ें