पुलिस ने चलाया अभियान:बिना लाइसेंस ब्याज वसूलने वालाें पर सख्ती शुरू, 1 माह में 7 पर केस

मंदसौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कर्ज से दबे व परेशान व्यक्तियों को राहत देने के लिए पुलिस द्वारा जिले में सूदखोरी के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही पुलिस द्वारा अभियान के संबंध में परचे वितरण व हेल्पडेस्क सहित साेशल मीडिया से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। एक महीने में सूदखोरी मामले में करीब 7 केस दर्ज किए हैं।

शहर कोतवाली टीआई अमित सोनी ने बताया बिना लाइसेंस के सूदखोर अधिक ब्याज लेकर लोगों की मजबूरी का फायदा उठाते हैं। अधिकतर सूदखोर जरूरत पड़ने पर कोरे चेक ले लेते हैं। बाद में मनचाही रकम भरकर इन्हें बैंक में लगाकर बाउंस करा लेते हैं। इसके बाद न्यायालय में केस फाइल कर देते हैं।

कई दबाव में आकर लाेग गलत कदम उठा लेते हैं। कोतवाली पुलिस द्वारा चौराहों पर परचे व डेस्क लगाकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार को भी बीपीएल चौराहा पर हेल्पडेस्क लगाई। 2 से 20 प्रतिशत तक करते हैं ब्याज की वसूली- आमतौर पर इस कारोबार में 2 प्रतिशत तक ब्याज ठीक माना जाता है लेकिन लाइसेंस के बिना सूदखोर 20 प्रतिशत तक ब्याज वसूलते हैं। जानकारी के अनुसार इन मामलों में अधिकांश विवाद की स्थिति बन जाती है।

इन नंबरों पर कर सकते हैं शिकायत
सूदखोराें के खिलाफ सूचना देने के लिए पुलिस ने नंबर जारी किया है। संबंधित शिकायत के लिए 7049132031 या 07422- 220500 पर कॉल कर सकते हैं। पुलिस संबंधित पर जांच के बाद कार्रवाई करेगी।

व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा हैं-

पूरे जिले में सूदखोरी के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इसका व्यापक प्रचार- प्रसार किया जा रहा है। पिछले महीने में करीब 7 प्रकरण दर्ज हुए हैं। जांच के बाद संबंधितों पर कार्रवाई की जाएगी।
- सुनीलकुमार पांडेय, एसपी।

खबरें और भी हैं...