पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Mandsaur
  • The Board Admitted That There Is A Chemical In The Water, Said: The Visible Waste Of The Soybean Plant, Will Take Strict Action

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गांधीसागर बैक वाटर का मामला:बोर्ड ने माना पानी में केमिकल है, कहा : साेयाबीन प्लांट का दिख रहा वेस्टेज, करेंगे सख्त कार्रवाई

मंदसौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय प्रबंधक टीम लेकर पहुंचे मंदसौर सैंपल लेने

गांधीसागर के बैक वाटर एरिया में प्रदूषण दूर-दूर तक फैल गया है। शुक्रवार को भास्कर टीम सीतामऊ तहसील के गांवों में भी पहुंची। यहां 6 से अधिक गांव के लाेग एक माह से दूषित पानी से परेशान हैं। इधर, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय प्रबंधक टीम के साथ मंदसौर पहुंचे। शुक्रवार को उन्होंने सरवानिया व संजीत के बैक वाटर से सैंपल लिए। प्रारंभिक रूप से टीम को पानी में सोयाबीन ऑइल प्लांट का वेस्टेज नजर आया है। 45 किमी से भी ज्यादा के हिस्से में गांधीसागर का बैक वॉटर एरिया पूरी तरह प्रदूषित हो गया। मामले में जिम्मेदार प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड उज्जैन के अधिकारी दो दिन से गुमराह कर रहे थे। कभी टीम सैंपलिंग के लिए आ रही, कभी कल आएगी कहते रहे। आखिरकार शुक्रवार दोपहर में प्रदूषण नियंत्रण क्षेत्रीय कार्यालय के प्रबंधक हेमंत तिवारी स्वयं टीम लेकर मंदसौर के लिए रवाना हुए। देर शाम 6.20 बजे टीम मंदसौर के सरवानिया गांव पहुंची। यहां प्रारंभिक रूप से टीम को दुर्गंधयुक्त पानी मिला। इसमें सोयाबीन ऑइल प्लांट का वेस्टेज मिलने की आशंका जताई जा रही है। अधिकारियों ने साफ किया कि पानी में केमिकल है यह तो दिख रहा है। कौन-सा केमिकल है यह जांच के बाद ही पता चलेगा। टीम ने सरवानिया व संजीत से बैक वॉटर के सैंपल लिए। इन्हें जांच के लिए रात को ही उज्जैन रवाना किया। अधिकारी तीन दिन में रिपोर्ट आने की बात कह रहे हैं। शनिवार को जिले में अन्य 8 से 10 जगह से भी सैंपलिंग कराई जाएगी। क्षेत्रीय प्रबंधक तिवारी ने बताया कि पानी के सैंपल की जांच के बाद संबंधित फैक्ट्रियों की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी। जांच में यह पता चलेगा कि उसमें किस-किस तरह के केमिकल है, वह केमिकल किस-किस फैक्ट्री के वेस्ट में निकलता है, यह पता चल जाएगा। इसके बाद संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ग्रामीणों ने मवेशियाें काे नदी का पानी पिलाना बंद कर दिया

गुरुवार को भास्कर टीम सीतामऊ तहसील के गांव जवानपुरा, शक्करखेड़ी, आवरी, घाटियाखेड़ी, कोलवी, गाड़रिया, एलवी महादेव, पायाखेडी, भटाजी गांव का दौरा दिया। यहां भी ग्रामीण गांधीसागर के प्रदूषित बैक वाटर से परेशान है। बाजखेड़ी पंचायत के पूर्व सरपंच घटियाखेड़ी निवासी शंभूलाल दायमा, लक्ष्मण कछावा, बाबूलाल दायमा, नाथूलाल, जगदीश दायमा, गोरूलाल, कैलाश सुरावत ने बताया कि एक महीने से पानी बदबू मार रहा है। कमलीबाई दायमा, जगदीश दायमा, मांगीलाल बेरा, जगदीश सहित 5 से 7 लोगों की भैंस 15 दिन पहले ही बीमार हो गई थी। इसके बाद ग्रामीणों ने नदी का पानी पिलाना बंद कर दिया। इसके बाद पशुओं का स्वास्थ्य सही हुआ।

मंत्री डंग को भी स्थिति से अवगत कराया, हालत वही
अरनिया गाैड़ के सूर्यपालसिंह ने बताया कि अरनिया गाैड़, खेड़ी, गुराडिया गाैड़ सहित आसपास के गांव में समस्या है। ग्रामीणों ने मंत्री हरदीप सिंह डंग को नरेंद्र सिंह तोमर के कार्यक्रम में अवगत कराया था। मंत्री डंग ने कलेक्टर को अवगत कराया था लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ।
आज भी सैंपलिंग कराई जाएगी
^हमने सरवानिया महाराज व संजीत क्षेत्र से पानी के सैंपल लिए हैं। शनिवार को आठ से दस जगह से सैंपल लिए जाएंगे। पानी में निश्चित ही केमिकल है, यह दिखाई दे रहा है। पानी की जांच के बाद हो भी रिपोर्ट आएगी उससे पता लगाएंगे कि किस कंपनी का केमिकल है। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
हेमंत तिवारी, प्रबंधक, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, क्षेत्रीय कार्यालय उज्जैन

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें