पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना वैक्सीनेशन:टीके के लिए युवाओं का ये जोश बन सकता है संक्रमण का कारण

मंदसौर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो फ्रेम में धुंधड़का केंद्र पर जो भीड़ दिख रही है उससे चार गुना लंबी थी ये कतार। - Dainik Bhaskar
फोटो फ्रेम में धुंधड़का केंद्र पर जो भीड़ दिख रही है उससे चार गुना लंबी थी ये कतार।

जिला प्रशासन ने अंचल में वैक्सीनेशन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया बंद कर दी। यहां पहले आओ व पहले पाओ का नियम है। जो पहले आएगा उन्हें टोकन दिया जा रहा है। उसकी अनुसार टीके लगा रहे हैं। वहीं सेंटरों पर एक दिन में 100 लोगों को ही वैक्सीन लगाई जा रही है। ऐसे में लोग जल्द वैक्सीन लगवाने के लिए बड़ी संख्या में सेंटर पर पहुंच रहे हैं। इस उत्साह में युवा सोशल डिस्टेंसिंग को भूल रहे हैं जो खतरनाक है।

नाहरगढ़: 200 डोज रोज की मांग भेज रखी- प्राथमिक केंद्र पर लोगों को टोकन दिए जा रहे एवं कन्या स्कूल में वैक्सीन लगाई जा रही है। रविवार को यहां महिला व पुरुष की लंबी लाइन परिसर के बाहर तक लगी रही। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग भी भूले। मेडिकल ऑफिसर जगदीश गेहलोद ने बताया कि उन्होंने जिला प्रशासन को केंद्र के लिए 200 डोज रोज की मांग भेजी है।

सीतामऊ: सुबह 5 बजे से लाइनें लगना शुरू- शासकीय उमावि में वैक्सीनेशन सेंटर है। यहां सुबह 5 बजे से युवा टोकन के लिए लाइन में लग रहे हैं। रविवार को भी सोशल डिस्टेंसिंग टूटी। नायब तहसीलदार टीना मालवीय ने समझाने का प्रयास किया व टोकन वितरण कराया। केंद्र पर दोपहर 1 बजे तक ही वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा हाे गया।

खबरें और भी हैं...