पाकिस्तानी जासूस:सूचनाएं लीक करने का आरोपी फौजी रिमांड पर, उसके परिवार से जुड़े बैंक खातों की डिटेल पता की जाएगी

नारायणगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी (लाल घेरे में) को कोर्ट में पेश करने ले जाती पुलिस। - Dainik Bhaskar
आरोपी (लाल घेरे में) को कोर्ट में पेश करने ले जाती पुलिस।

पाकिस्तानी जासूस को सेना से जुड़ी सूचनाएं लीक करने के आरोपी फौजी रोहित को कोर्ट ने 8 दिन के पुलिस रिमांड पर दिया है। पुलिस का कहना है कि रिमांड के दौरान पुलिस आरोपी से उसके द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे मोबाइल और सिम बरामद करने हैं। साथ ही यह उसके परिवार से जुड़े बैंक खातों की डिटेल पता की जाएगी। यह भी जानने का प्रयास होगा कि उसने सेना से जुड़ी क्या-क्या जानकारियां महिला जासूस को दी थी।

एसएसपी हामिद अख्तर ने मीडिया से बातचीत में पुष्टि की कि सेना की इंजीनियरिंग रेजिमेंट में भोपाल में तैनात रोहित 2018 से पाकिस्तान की जासूस के संपर्क में था। वह क्लेरिकल विंग में है। पिछले काफी समय से वह जांच एजेंसी के राडार पर था। रोहित के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस कब्जे में लिए जा रहे हैं, ताकि आगे की जांच हो सके। प्रारंभिक पूछताछ में रोहित ने कुछ सूचनाएं शेयर करने की बात मानी है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पैसे के बदले पाकिस्तानी जासूस को जानकारी देने का शक है। रोहित के पिता के खाते में ट्रांसफर हुई रकम की जांच होनी है। 3 दिन पहले ही एक महीने की छुट्टी लेकर अपने गांव कोड़वा आए रोहित को बुधवार देर शाम हिरासत में लिया गया और ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ। आरोप है कि वह फेसबुक मैसेंजर के जरिये जासूस से चैटिंग करता था। पुलिस रिमांड के दौरान पुलिस यह पता लगाएगी कि और कितने लोग उसके संपर्क में हैं। रोहित का बड़ा भाई रमेश भी 2012 से भारतीय सेना में है।

25 साल पहले हिमाचल से कोड़वा आकर बस था परिवार: गांव कोड़वा के ग्रामीणों ने बताया कि रोहित का परिवार करीब 25 साल से गांव में है। इसके पिता कारपेंटर का काम करते हैं। हाल ही में इन्होंने गांव में डेढ़ कनाल जमीन मकान बनाने के लिए खरीदी थी। अब मकान का काम शुरू करना था तो दोनों भाई छुट्टियां लेकर घर आए थे।

कोड़वा का इतिहास वीरों की शौर्य गाथा से भरा

आज भी इस गांव के 700 से अधिक युवा भारतीय सेना में है। इस गांव दस शूरवीर देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए। जबकि कोड़वा के चार स्वतंत्रता सेनानी भी रहे हैं। गांव का गौरव पट्ट शहीदों के नाम से भरा हुआ है। यहां औसतन हर घर से कोई न कोई सेना में है। रोहित का मामला सामने आने के बाद ग्रामीण शर्म महसूस कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...