पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दो दिवसीय अष्टयाम यज्ञ:भुइया बाबा की पूजा के दिन गृहस्वामी की माैत, लोग बोले- पूजा में हुई है चूक

नयागांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सोनपुर के रहीमपुर में मन्नत पूरी होने पर भुइया बाबा के पूजा के दिन शुक्रवार की सुबह में अचानक गृहस्वामी की मौत हो जाने के बाद परिवार वालों में कोहराम मच गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार जमादार राय अपनी मन्नत पूर्ण होने पर बुधवार से ही दो दिवसीय अष्टयाम यज्ञ आरंभ कराया था। गुरुवार को यज्ञ का समापन हुआ तथा उसी दिन आगामी शुक्रवार को होने वाले भूईया बाबा की पूजा का नेवतन था। इसे लेकर उसके आसपास में उत्सवी माहौल था। उत्सवी माहौल में गुरुवार को नेवतन भी संपन्न हुआ ।पूजा की भी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी थी इसी बीच शुक्रवार कि सुबह ही अचानक जमादार राय बिस्तर से नीचे गिर पड़े।

आनन-फानन में परिवार के सदस्यों ने उसे अस्पताल ले जाना चाहा। उन्हें गाड़ी में लादकर जैसे ही थोड़ी दूर आगे ही बढ़े थे कि अचानक उनकी मौत हो गई। इस घटना के बाद परिवार वालों में चीख-पुकार मच गया। घर पर उत्सवी माहौल मातम में बदल गया। आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि मृतक एक साधारण किसान था उसकी एक पुत्री तथा 2 पुत्र थे। वह खेती कर किसी तरह अपने परिवार का भरण पोषण करते थे। अचानक हुई मौत के बाद परिवार वालों में दुख का पहाड़ टूट पड़ा। उम्मीद जताया जाता है कि हृदयाघात से उनकी मौत हुई है।

गृह स्वामी की मौत,भगत फरार
गांव के कुछ लोगों ने बताया कि अंधविश्वास इस कदर हावी हो गया कि जैसे ही गृह स्वामी बिछावन से गिरे वहां गांव के लोग भगत को ही पूजा में हुई चूक के कारण ऐसा होने की बात कहने लगे। लोग भगत को ही तरह-तरह के ताने देने लगे। धीरे-धीरे बात ज्यादा बिगड़ने लगी। इसी बीच मौके की नजाकत को समझते हुए भगत वहां से अपने साथियों के साथ ढोल मजीरा लेकर फरार हो गया। जनरेटर लाइट व टेंट शामियाना वाले भी डर के मारे अपना अपना सामान खोल कर भागने लगे।

खबरें और भी हैं...