पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्ड फ्लू का खतरा बढ़ा:जिले में फिर 10 पक्षी मृत मिले, अब तक 90 की हो चुकी है मौत

नीमच2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के 10 किमी क्षेत्र में कर रहे निगरानी, टीमें कर रही निरीक्षण

जिले में बर्ड फ्लू का खतरा बढ़ने लगा है। रोज पक्षी मृत मिल रहे हैं। लोगों में दहशत है। मूलचंद मार्ग क्षेत्र से लिए सैंपलों में से 3 की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन ने पहले उस क्षेत्र के एक किलोमीटर एरिया तक स्थित सभी मांस दुकानें सील करा दी थी अब दायरा बढाकर 10 किलोमीटर कर दिया है। पशु चिकित्सा विभाग के उपसंचालक डॉ. एके सिंह ने बताया रविवार को नीमच में 1 कौए, 1कबूतर, 1 बगुला और नवलपुर में 1 मोर तथा जावद में 1 बगुला, मनासा में 5 कौए व 2 बुलबुल मृत मिली। जिन्हें निकाय की टीम द्वारा बर्न कर डिस्पोज किया। अब तक जिले में कुल 90 पक्षी मृत मिल चुके हैं। 431 मुर्गे-मुर्गियां नष्ट किए हैं। सिंह ने बताया 3 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पशु चिकित्सा विभाग के उपसंचालक सिंह ने बताया जिले से भेजे सैंपलों में से एक कौए और मांस दुकानें से लिए टेबल और छुरे की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिले में वायरस की पुष्टि हो गई है। इसके बाद काेई सैंपल नहीं भेज रहे है। प्रदेश के अन्य जिलों से भी सैंपल जाने से भोपाल लैब पर लोड बढ़ा हुआ है। अभी सिर्फ सावधानी और लोगों को जागरूक करने का काम किया जा रहा है।

मनासा क्षेत्र में लगातार मिल रहे हैं मृत पक्षी

मनासा विकासखंड क्षेत्र में पक्षियों की मौत का आकड़ा बढ़ता जा रहा है। रविवार को 5 कौए व 2 रेड वेनटेड बुलबुल की मौत हुई। पक्षियों की मौत का आंकड़ा 22 हो चुका है। पशु चिकित्सक एवं नोडल अधिकारी डॉ. राजेश पाटीदार ने बताया रविवार दोपहर 3 बजे पांच कौए एवं रेड वेनटेड (होरियां) प्रजाति के दो पक्षियों की मौत रामपुरा सहित ग्रामीण क्षेत्र में हुई। रामपुरा में 2 खिमला में 1 मनासा में 1 व हतुनिया में 1 कौए की मौत हुई। मनासा में बुलबुल प्रजाति के 2 पक्षियों की मौत की पुष्टि हुई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें