औसत बारिश पूरी होने में 13 इंच कम:जिले में अब तक 19.23 इंच बारिश, 60 फीसदी कोटा पूरा

नीमच2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीताराम जाजू सागर बांध। - Dainik Bhaskar
सीताराम जाजू सागर बांध।
  • अगले दो माह में औसत बारिश तक तो पहुंच जाएंगे, लेकिन तेज पानी नहीं गिरा ताे डेम भराना मुश्किल
  • प्रतापगढ़ जिले में पानी नहीं गिरा तो हमारा डेम अभी भी 10 फीट खाली

जिले में बारिश के सीजन में अब तक 19.23 इंच हो चुकी है, जो औसत बारिश का 60 फीसदी हो चुका है। यदि इस प्रकार भी बारिश होती रही तो इस साल अब औसत बारिश तक तो पहुंच जाएंगे। लेकिन बांध/तालाब नहीं भर पाएंगे। प्रतापगढ़ जिले में बारिश नहीं हाेने का असर हमारे यहां दिखने लगा है। वहां बारिश नहीं हाेने से शहर का मुख्य पेयजल स्त्रोत सीताराम जाजू सागर बांध अब तक 11 फीट भी नहीं भर पाया है, जबकि पिछले साल इसमें 12 फीट से ज्यादा पानी था।

पिछले साल से 6.20 इंच ज्यादा गिरा पानी- जिले में बारिश का मौसम शुरू हुए दो महीने होने आए है। इस साल जून करीब 4.30 इंच, जुलाई माह में 9.45 इंच और अगस्त के 7 दिन में 5.51 इंच बारिश हो चुकी है। जिले की औसत बारिश 32 इंच के मुकाबले जिले में अब तक 19.23 बारिश हो चुकी है। इस अवधि में पिछले साल 12.40 इंच बारिश हुई थी। जो कि पिछले साल के मुकाबले 6.20 इंच ज्यादा है। अभी दो महीने से ज्यादा बारिश का सीजन बाकी है, यदि 13 इंच बारिश होती है तो जिले की औसत बारिश पूर्ण हो जाएंगी।

24 घंटे के दौरान नीमच में बरसा 1.5 इंच, आज भी होगी रिमझिम

सावन के 14 में से 12 दिन बारिश

25 जुलाई से शुरू हुए सावन माह में अब 30 व 31 जुलाई को ही बारिश नहीं हुई। बाकी दिन कभी दिन तो कभी रात में रूक-रूककर रिमझिम तो कभी तेज बारिश का दौर जारी है। इन 14 दिनाें में ही 11.33 इंच बारिश हो चुकी है। अभी भी बारिश का दौर जारी है, शुक्रवार-शनिवार रात में झमाझम बारिश हुई।

सबसे ज्यादा बारिश हुई मनासा में

जिले में इस साल अब तक 19.23 इंच बारिश हो चुकी है। इसमें सर्वाधिक बारिश मनासा में 20.63 इंच और सबसे कम जावद में 18.30 इंच बारिश हुई। जबकि नीमच में 18.75 इंच बारिश हुई है। यदि पिछले साल 2020 में इस अवधि में सबसे ज्यादा बारिश जावद में 15.32 इंच और सबसे कम मनासा में 11.45 इंच बारिश हुई थी। जबकि नीमच में 12.37 इंच बारिश दर्ज हुई थी। वहीं जिले में 7 अगस्त-2021 को सुबह 8 बजे समाप्त पिछले 24 घंटे में औसत 1.55 इंच बारिश हुई है। जिसमें नीमच 1.50 इंच, जावद 1.97 इंच व मनासा में 1.15 इंच बारिश दर्ज की गई।

ठिकरिया स्थित खुमानसिंह शिवाजी सागर बांध में बचा डेड वाटर

एक सप्ताह में जाजू सागर में आया डेढ़ फीट पानी

अगस्त माह के 7 दिनों में 52 फीट क्षमता वाले मोरवन डेम में 5 फीट पानी की आवक रही और 31 फीट भर गया। जबकि नीमच शहर का मुख्य पेयजल स्त्रोत वाला हर्कियाखाल स्थित जाजू सागर बांध में सात दिनों में करीब डेढ़ फीट पानी आया है। 21 फीट क्षमता वाले इस बांध का जल स्तर अाज 10.10 फीट है। यहां राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले और जीरन तहसील के चीताखेड़ा व आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले नालों से पानी आता है। इन क्षेत्रों में भारी बारिश नहीं होने के कारण जाजू सागर अब तक करीब आधा खाली पड़ा है। वहीं दूसरा मुख्य पेयजल स्त्रोत ग्राम ठिकरिया स्थित खुमानसिंह शिवाजी सागर बांध में पानी की आवक कमजोर होने से अब तक डेड वाटर लेवल के अंदर ही पानी है। जल संसाधन विभाग के अनुसार यह बांध अभी खाली की श्रेणी में है।

32 बाध/तालाब में से 12 में आया पानी : जिले में मोरवन व शिवाजी सागर सहित जल संसाधन विभाग के 32बांध/तालाब है। इसमें से 20 में खाली है या नाममात्र का पानी आया है, जो विभाग के लेवल से कम है। ऐसे में इन्हें खाली माना जाता है। जबकि 12 बांध/तालाबों में 4 से 100 फीसदी तक पानी आ चूका है। इससे सबसे ज्यादा मल्हारगढ़ तालाब शतप्रतिशत भरा चुका है।

खबरें और भी हैं...