पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बढ़ रहा संक्रमण:15 दिन में बने 83 नए कंटेनमेंट, दायरा घटाया फिर भी संसाधन व स्टाफ पड़ा कम

नीमच10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 752 पॉजिटिव, अब तक बनाए 141 कंटेनमेंट क्षेत्र
  • दिन घटाकर 21 के बजाय 14 किए, कई जगह बांस-बल्ली व रस्सी बांधकर चला रहे काम

कोरोना का संक्रमण तेजी से गलियों में फैल रहा है। जिले में अब तक 752 पॉजिटिव के साथ 141 कंटेनमेंट बनाए गए है जिनमें से 58 मुक्त हुए है। वर्तमान में 83 एक्टिव हैं। पिछले 15 दिन के दौरान 83 नए क्षेत्र कोरोना की चपेट में आए हंै। सबसे ज्यादा कंटेनमेंट क्षेत्र नीमच में बने हैं। लगातार कंटेनमेंट की संख्या बढ़ने से अब उनका स्वरूप बदल गया है। कहीं दो-चार बांस बल्ली के सहारे तो कहीं सिर्फ स्टापर व रस्सी बांध कर क्षेत्र प्रतिबंधित किया जा रहा है। कंट्रोल रूम तो बन रहे हैं लेकिन ड्यूटी करने वाले सुरक्षाकर्मी व अन्य अमला नहीं मिल रहा है। कई कंटेनमेंट सुने पड़े रहते हैं। कोरोना संक्रमितों की संख्या शहरी क्षेत्र में लगातार बढ़ रही है। इस कारण कंटेनमेंट एरिया भी बढ़ रहे हैं। हालात यह है कि 40 वार्ड के शहर में अब तक 54 कंटेनमेंट एरिया बनाने के आदेश जारी हो चुके हैं। कंटेनमेंट क्षेत्र बढ़ने के साथ यहां सुरक्षा, सुविधा और चिकित्सकीय व्यवस्था को लेकर बड़ी परेशानी खड़ी हो रही है। हर कंटेनमेंट क्षेत्र में सुरक्षा के लिए पुलिस बल की जरूरत है। साथ ही यहां स्वास्थ्य सुविधा देने, पूरे क्षेत्र के लोगों की स्क्रीनिंग करने और स्वास्थ्य जांच में भी दिक्कत आ रही है। स्वास्थ्य विभाग के पास सीमित संसाधन होने के कारण कंटेनमेंट क्षेत्रों में स्वास्थ्य अमले और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बिना पीपीई किट के जाना पड़ रहा है।

15 दिन में ऐसे बढ़ी कंटेनमेंट की संख्या 18जुलाई 04 > 19जुलाई 01 > 20 जुलाई 06 > 21 जुलाई 05 > 22 जुलाई 06 > 23 जुलाई 01 > 24 जुलाई 13 > 25 जुलाई 01 > 26 जुलाई 05 > 27 जुलाई 07 > 28 जुलाई 04 > 29 जुलाई 03 > 30 जुलाई 08 > 31 जुलाई 13 > 1 अगस्त 07 >

कंटेनमेंट प्रतिबंध के लिए दिन के साथ दायरा भी हुआ सीमित
पहले जब कोरोना संक्रमण शुरू हुआ था तो कुछ दिन तक किसी भी नए क्षेत्र में पॉजिटिव मरीज मिलने पर वहां आस-पास के करीब 100 से 200 मीटर तक का क्षेत्र प्रतिबंधित घोषित कर वहां 10 फीट तक की जाली, बेरीकेड्स लगाकर पूरी तरह बंद किया जा रहा था और 21 दिन तक कोई नया मरीज नहीं मिलने पर ही खोला जाता था। अब ऐसा नहीं हो रहा है। पिछले एक माह से 14 दिन तक कोई नया मरीज नहीं मिलने तक ही कंटेनमेंट रहता है और वहां रास्तों को बंद नहीं किया जाता। आस पास के सिर्फ 3 से 4 मकानों को ही सामान्य बांस-बल्ली या फिर रस्सी के सहारे की प्रतिबंधित घोषित कर दिया जाता है। यहां कंट्रोल रूम तो बनता है लेकिन स्वास्थ्य कर्मी और सुरक्षा के लिए पुलिस जवान तैनात नहीं रहते।

शहर के इन कंटेनमेंट में है सुरक्षा की कमी
जिला मुख्यालय पर ही कंटेनमेंट क्षेत्र काफी सीमित व औपचारिकता के साथ बनाए जा रहे है। इनमें कई क्षेत्रों में तो कर्मचारी नदारद रहते हैं और सुरक्षा के लिए पुलिस अमला भी कम पड़ गया है। ऐसे में नगर सुरक्षा समिति सदस्यों को लगाना पड़ रहा है। शहर के राजस्व कॉलोनी, विकास नगर, सिद्धी विनायक कॉलोनी, चूड़ी गली, दुर्गा ऑइल मिल के पास, बंगला नंबर 59, पुरानी नपा बंगला नंबर 60, गोपाल गली, यादव मंडी, मूलचंद मार्ग, नयाबाजार, तिलक मार्ग आदि क्षेत्रों में बनाए गए कंटेनमेंट सुने पड़े रहते हैं।

लोगों को खुद जागरूक होना पड़ेगा

संक्रमित मरीजों के साथ कंटेनमेंट बढ़ रहे हैं तो इसके लिए पर्याप्त पुलिस बल व स्वास्थ्यकर्मी उपलब्ध नहीं हो पाते है। इसके लिए शिक्षा विभाग, कोटवार, ग्राम सुरक्षा समिति सदस्यों को भी लगाया जा रहा है। यह तो लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ मामला उन्हें खुद जागरूक रहना पड़ेगा। कंटेनमेंट का प्रतिबंध एक शासकीय प्रक्रिया है। अगर वह उसका नियम तोड़ेंगे तो कार्रवाई भी होगी। -जितेंद्रसिंह राजे, कलेक्टर, नीमच

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें