पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नवरात्रि:आस्था के आगे झुका प्रशासन, आंतरीमाता के आज से,भादवामाता के कल से दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु

नीमच10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीएम ने प्रदेश के सभी माता मंदिरों को नवरात्रि में खोलने की दी थी इजाजत, प्रशासन ने तीन प्रमुख मंदिर में लगाई थी रोक

मंदिरों में घट स्थापना के साथ ही शनिवार से शारदीय नवरात्रि प्रारंभ हो गई। प्रशासन ने जिले के प्रमुख मंदिरों में मेला निरस्त करने के साथ नवरात्रि में दर्शन पर भी रोक लगा दी थी इससे श्रद्धालुओं में निराशा थी। भास्कर ने इस खबर काे प्रमुखता से उठाया। दूसरे ही दिन आस्था के आगे प्रशासन को झुकना पड़ा। एडीएम ने आदेश वापस लेते हुए सोमवार से श्रद्धालुओं को मां भादवा के दर्शन की अनुमति जारी कर दी। इससे श्रद्धालुओं में खुशी छा गई। दर्शन के दौरान श्रद्धालुओं को कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य होगा। झांतला स्थित आंतरीमाता में श्रद्धालु रविवार से दर्शन करने जा सकेंगे। जावद क्षेत्र में मोड़ी माता मंदिर के बारे में प्रशासन ने निर्णय नहीं लिया। नवरात्रि शुरू होने के दो दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने प्रदेश के सभी माता के दरबार खोलने के साथ अधिकतम 200 श्रद्धालुओं के एक समय में उपस्थित रहने अनुमति दी थी। नीमच प्रशासन ने सीएम के लिखित आदेश नहीं आने का कहकर घट स्थापना के साथ ही भादवामाता, आंतरीमाता व मोड़ी माता में श्रद्धालुओं के दर्शन पर रोक के आदेश जारी कर दिए थे। शनिवार को श्रद्धालुओं के बगैर मंदिर के पुजारियों व समिति सदस्यों ने घट स्थापना कर पूजा-अर्चना की। दैनिक भास्कर ने 16 अक्टूबर के अंक में “सीएम ने कहा: माता मंदिरों में 200 श्रद्धालु कर सकेंगे दर्शन..... रोक लगाई’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया। प्रशासन की टीम शनिवार को मंदिर पहुंची। करीब दो घंटे व्यवस्थाओं का जायजा लिया। आस्था भवन में बैठक कर सोमवार से मंदिर में दर्शन की अनुमति देने पर चर्चा कर निर्णय लिया। एडीएम एसआर नायक, एसडीएम एसएल शाक्य, तहसीलदार अजय हिंगे, सीएसपी आरएम शुक्ल, मंदिर प्रबंधक अजय ऐरन सहित अधिकारी व समिति के सदस्य उपस्थित थे।

200 से अधिक श्रद्धालु परिसर में नहीं रहेंगे
एसडीएम शाक्य ने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए श्रद्धालुओं को गाइडलाइन का पालन करना आवश्यक होगा। मंदिर परिसर में सोशल डिस्टेंस से कतारबद्ध होकर दर्शन के लिए जा सकेंगे। एक समय में 200 से अधिक श्रद्धालु परिसर में उपस्थित नहीं रहेंगे। सुरक्षा के लिए पुलिस जवान तैनात रहेंगे। मंदिर के अंदर दर्शन करते ही बाहर आना होगा। बिना मास्क के आने वाले श्रद्धालु को परिसर में प्रवेश नहीं मिलेगा।

मंदिर के अंदर एक समय में 60 श्रद्धालु कर सकेंगे दर्शन

मंदिर प्रबंधक अजय ऐरन ने बताया कि कोविड गाइडलाइन के अनुसार मंदिर परिसर में सोशल डिस्टेंस से श्रद्धालुओं को खड़े रहने के लिए दो गज की दूरी पर गोले बना रखे हैं। इसमें खड़े रहकर दर्शन के लिए इंतजार करना होगा। माता रानी के दरबार में महिला-पुरुष के लिए 30-.30 गोले बनाए हैं। इसमें खड़े रहकर सिर्फ दर्शन की अनुमति होगी। गर्भगृह में किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। दर्शन के बाद श्रद्धालुओं धर्मशाला के पास वाले रास्ते के बाहर निकलना होगा। इसके बाद कतार में लगे श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जाएगा।

बगैर मास्क प्रवेश नहीं 24 कैमरों से रखेंगे नजर

मंदिर प्रबंधक ऐरन ने बताया कि गाइडलाइन का पालन पूरी सख्ती के साथ कराया जाएगा। बिना मास्क के किसी को प्रवेश नहीं मिलेगा। सुरक्षा मंदिर परिसर में 16, पंचायत में 5 तथा स्नानघर के आसपास तीन सीसीटीवी कैमरे लगाए रखे हैं। इनसे लगातार निगरानी की जाएगी। सुरक्षा में पटवारी, सचिव, कोटवाल, प्राइवेट सिक्यूरिटी गार्ड के अलावा पुलिस के जवान भी तैनात रहेंगे। कहीं पर अव्यवस्था होने पर तत्काल सुरक्षा जवान मौके पर पहुंचकर व्यवस्था सुधारेंगे।

मंदिर में प्रवेश पर इन नियमों का करना होगा पालन
1. सुबह 7 से शाम 6 बजे तक दर्शन की अनुमति रहेगी।
2. मंदिर परिसर में कतारबद्ध होकर सैनिटाइजर मशीन से हाथ धाेना होंगे।
3. मेला स्थगित रहने से किसी तरह की दुकानें नहीं लगेगी।
4. पैदल यात्रा व मंदिर में पूजन सामग्री ले जाने पर रोक रहेगी।
5. स्नानघर में स्नान करने पर प्रतिबंध जारी रहेगा।
6. लंगर, प्रसादी का वितरण नहीं किया जा सकेगा।
7. वाहन निर्धारित स्थान पर खड़े होंगे।

3 लाख से अधिक श्रद्धालु आते हैं

मां भादवा के दरबार में शारदीय नवरात्रि में इस बार कोरोना के कारण मेला स्थगित है। प्रतिवर्ष यहां मप्र, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश सहित अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते हैं। पिछले वर्ष नौ दिन में तीन लाख से अधिक श्रद्धालुओं दर्शन को पहुंचे थे। इस बार छह दिन ही माता रानी के दर्शन का लाभ श्रद्धालुओं को मिलेगा।

तैयारियां शुरू की
^नवरात्रि में सोमवार से श्रद्धालु दर्शन के लिए आ सकेंगे। प्रशासन ने तैयारियों का जायजा लेकर बैठक में चर्चा के बाद दर्शन की अनुमति दे दी है। श्रद्धालुओं की भीड़ को कंट्रोल करने सहित अन्य व्यवस्था की तैयारियां शुरू कर दी है। सभी को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना आवश्यक होगा।
अजय ऐरन, प्रबंधक- भादवामाता मंदिर
सूचना बोर्ड लगाए
^मंदिर में नवरात्रि के पहले दिन शनिवार रात 9.15 घट स्थापना हुई। अब श्रद्धालु यहां दर्शन करने आ सकेंगे। सभी को सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। जागरुकता के लिए सूचना बोर्ड भी लगाए जा रहे हैं। दर्शन के बाद श्रद्धालुओं को मंदिर परिसर में ज्यादा देर नहीं रुकने दिया जाएगा। सुरक्षा के लिए पटवारी, पंचायत सचिव सहित अन्य कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है।
मनीष जैन, एसडीएम- मनासा

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें