पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कृति की परिचर्चा:‘खतरनाक स्तर की मिलावट ज्यादा होती है नीमच में, इस पर रोक जरूरी’

नीमच25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

नीमच में खतरनाक स्तर की मिलावट ज्यादा होती है ऐसा अाैर कहीं नहीं होता है। ऐसे में मिलावटखोर और कालाबाजारी पर सख्त कानूनी कार्रवाई होना चाहिए। कड़ी कार्रवाई के लिए कानून में भी परिवर्तन होना चाहिए। दोषी आरोपी चाहे जो भी हो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर जेल भेजना चाहिए, ऐसे लोगों का सामाजिक बहिष्कार भी होना चाहिए। तभी कालाबाजारी पर रोकथाम हो सकती है। यह विचार संस्था कृति द्वारा “मिलावटखोर और कालाबाजारी मानवता के दुश्मन’ विषय पर आयोजित परिचर्चा में उपस्थित लोगों के संवाद-प्रतिसंवाद में सामने आए। संस्था कृति द्वारा गायत्री मंदिर सभागृह में योजित परिचर्चा में उपस्थित अधिकारी व जनप्रतिनिधि से लेकर वरिष्ठजनों ने संवाद-प्रतिसंवाद में करते हुए अपनी बात रखी। वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा जिला अधिकारी संजीव मिश्रा ने कहा कि इस क्षेत्र में मिलावट के बदले स्वरूप देखने को मिले हैं। नीमच में खतरनाक स्तर की मिलावट ज्यादा होती है, ऐसा कहीं अन्यत्र नहीं होता है। अन्यत्र घी में चर्बी, दूध में पानी मिलाते हैं, लेकिन यहां दो समानांतर व्यापार चल रहे हैं। अच्छी पैकिंग में भी मिलावट सामने आई है। धन कमाने की लालसा से व्यापार बढ़े हैं। रामपुरा में दुध में डिटर्जेन्ट मिलावट सामने आई है। 25 हजार लीटर दूध का संग्रहण होता है, जबकि 40 हजार लीटर दूध बिकता है। मिर्च मसालों में भी खतरनाक रसायन की मिलावट हो रही थी, जिस पर हमने कार्रवाई की। प्रशासन ने इसे रोकने का प्रयास किया है। उपभोक्ता सजग रहें। उपभोक्ता फोरम के पूर्व सदस्य एडवोकेट अजय भटनागर ने कहा कि समाज में जागरुकता आवश्यक है। वर्तमान अर्थ युग है, इसमें पैसा सबसे प्रधान माना जा रहा है। शासकीय कर्मचारी भी मिलावट में सहयोगी हैं, जो समाज व राष्ट्र के लिए बडा कलंक है। कानून में और परिवर्तन की आवश्यकता है। व्यापार में मिलावट के मामलों को रोकने के लिए राजस्व न्यायालय की जगह सिविल न्यायालय में सुनवाई होनी चाहिए। मुकेश सहारिया ने कहा कि सरकार ने शुद्ध के लिए युद्ध अभियान चलाया था, उस अभियान का संचालन सम्मान योग्य कदम था। उपभोक्ता फोरम की सदस्य संगीता जारोली ने कहा उपभोक्ता संरक्षण के अन्तर्गत पैकिंग माल में मिलावट सामने आती है तो कार्रवाई की जाती है। उपभोक्ता फोरम में मिलावट की शिकायत का एक भी केस नहीं आया। कृति अध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह राठौड़ ने कहा कि नीमच में स्थानीय स्तर पर परीक्षण की सुविधा होनी चाहिए। उपभोक्ता फोरम की पूर्व सदस्य डॉ.माधुरी चौरसिया ने कहा कि सब्जियां नाली के पानी से उगाई जाती हैं, इस पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। इस दौरान थोक किराना व्यापारी संघ अध्यक्ष राजेंद्र नाहर, रिटेल किराना व्यापारी संघ सचिव रितेश नांगलिया सहित गणमान्यजन व संस्था सदस्य उपस्थित थे। संचालन किशोर जेवरिया व आभार सचिव डॉ.अक्षय पुरोहित ने व्यक्त किया।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement