पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Neemuch
  • Funeral Due To Kovid Rule After Manasa Woman's Death In Ujjain, 3 Families Also Positive Yet Local Administration Is Not Accepting Death From Corona

कोरोना पॉजिटिव:मनासा की महिला की उज्जैन में मौत के बाद कोविड नियम से अंतिम संस्कार, 3 परिजन भी पॉजिटिव फिर भी स्थानीय प्रशासन नहीं मान रहा कोरोना से मौत

नीमच2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उज्जैन में रिपोर्ट निगेटिव तो एक दिन पहले नीमच में लिए सैंपल की दो दिन बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई, हेल्थ बुलेटिन में नहीं जोड़ी मौत

रविवार को जिले के मनासा निवासी महिला की उज्जैन में हुई मौत को स्वास्थ्य विभाग कोरोना पॉजिटिव नहीं मान रहा है] जबकि अंतिम संस्कार कोविड गाइड लाइन से वहीं किया गया। कारण यह बताया जा रहा है कि उज्जैन में लिए सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आने के 5 दिन बाद मौत हुई, जबकि नीमच से रैफर करने से पहले लिए सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। एक मरीज के 24 घंटे में अलग-अलग जगह हुए सैंपल की रिपोर्ट अलग आने से अधिकारी असमंजस में है। इधर मौत के बाद महिला का उज्जैन में कोविड लाइन अनुसार अंतिम संस्कार कर दिया लेकिन उसे पॉजिटिव मृतकों की सूची में नहीं जोड़ा है। मनासा निवासी 65 वर्षीय महिला को 27 जुलाई को परिजन जिला अस्पताल लेकर आए थे। कोरोना लक्षण होने पर सैंपल लिया और गंभीर हालत के चलते उज्जैन रैफर कर दिया। 28 जुलाई को महिला का फिर सैंपल लिया और उसी दिन रिपोर्ट निगेटिव आ गई जबकि नीमच में लिए सैंपल की रिपोर्ट दो दिन बाद 30 जुलाई को पॉजिटिव आई। महिला की मौत के तीन दिन बाद भी स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना पॉजिटिव मृतक में नहीं जोड़ा है। इस संबंध में जिम्मेदारों का कहना है कि दोनों सैंपल की जांच में तकनीकी कारण हो सकता है। मेडिकल कॉलेज उज्जैन ने जब महिला को कोरोना पॉजिटिव नहीं माना हैं न हमें कोई रिपोर्ट दी है। उनसे इस बारे में चर्चा भी की है लेकिन वे निगेटिव रिपोर्ट दे रहे हैं। हम उसे पॉजिटिव मरीज की मौत के आंकड़ों में नहीं जोड़ सकते हैं। इधर निगेटिव मान रहे उज्जैन मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने महिला की मौत के बाद उसका शव परिजन को मनासा नहीं लाने दिया और वहीं कोविड गाइड लाइन के अनुसार अंतिम संस्कार कर दिया। इसे लेकर असमंजस की स्थिति है। 24 घंटे में दो बार हुए सैंपल की अलग-अलग रिपोर्ट मिलने से सवाल खड़े हो रहे।

तीन दिन बाद रतलाम से आई थी नीमच में लिए सैंपल की जांच रिपोर्ट
मनासा की महिला के नीमच आइसोलेशन में सैंपल लेने के बाद जांच के लिए रतलाम लैब भेजे थे। 30 जुलाई को रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी जबकि नीमच से रेफर होने के बाद महिला की उज्जैन मेडिकल कॉलेज में 28 जुलाई को वहीं सैंपल लेकर जांच की तो निगेटिव आई। एक मरीज के 24 घंटे के भीतर लिए सैंपल की अलग-अलग लैब से अलग-अलग रिपोर्ट आने के बाद असमंजस की स्थिति बन गई है।

परिवार के तीन सदस्य पॉजिटिव आए
इधर मृत महिला के सैंपल लेने और रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद नई गाइड लाइन से 14 लोगों के सैंपल 5 दिन बाद महिला की मौत हुई उसी दिन लिए थे। जिनकी मंगलवार को आई रिपोर्ट में परिवार के तीन सदस्यों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इसमें उसके दो पोते और एक बहू शामिल हैं।

मेडिकल कॉलेज पॉजिटिव माने तो
उज्जैन मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों का कहना है कि 28 जुलाई को निगेटिव आने के बाद 2 अगस्त को मौत हुई है। हम सैंपल नहीं लेते और मृत्यु होती तो नीमच की रिपोर्ट के आधार पर पॉजिटिव मान सकते थे। हम उसे पॉजिटिव में नहीं जोड़ सकते हैं।
डॉ. बीएल रावत, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल, नीमच

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें