अव्यवस्था / वीसी रूम में पर्याप्त सुरक्षा के उपाय नहीं होने से वकीलों ने पैरवी करने से मना किया

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

नीमच. कोरोना संक्रमण से बचाव व साेशल डिस्टेंस का पालन करने के लिए अदालतों में अब वीडियो काॅन्फ्रेंस से प्रकरणों की सुनवाई की जा रही है। जिले में यह व्यवस्था लागू हो गई है। इसमें पर्याप्त सुरक्षा व बचाव संबंधी उपाय नहीं होने के कारण जिला अभिभाषक संघ ने वीसी से पैरवी नहीं करने का निर्णय लिया है। इस व्यवस्था को स्थगित करने की करने की मांग करते हुए एक सूचना जिला जज ह्रदेश श्रीवास्तव को प्रेषित की है। 

अभिभाषक संघ अध्यक्ष सुनील जोशी व सचिव दीपक शर्मा ने बताया का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई को लेकर दिए आदेशों में इस बात का कोई उल्लेख नहीं हैं कि जिस प्रकार न्यायाधीश एवं कर्मचारी को बीमारी से बचाव के लिए जो सुरक्षा उपाय किए हैं। वैसे उपाय वकीलों एवं पक्षकारों के लिए किए जाए। उनका कहना है कि देश के प्रत्येक नागरिक की जान कीमती है और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के संबंध में कोविड-19 महामारी से बचाव के संबंध में भारत सरकार द्वारा जो दिशा-निर्देश जारी किए हैं। 

समुचित सुरक्षा संबंधी यहां कोई उपाय नहीं हुए हैं
वीसी रूम में सोशल डिस्टेंस का पालन वर्तमान व्यवस्थाओं व प्रत्येक न्यायालय के प्रकरणों की संख्या को देखते हुए संभव नही हैं। प्रत्येक न्यायालय के लिए अलग-अलग वीसी रूम की कोई व्यवस्था नहीं हुई है। इन परिस्थितियों में जब तक कोरोना नियंत्रित नहीं हो जाता अथवा जब तक न्यायालय में सुनवाई पहले की तरह शुरू करने के लिए प्रत्येक न्यायालय कक्ष में पीठासीन अधिकारी व न्यायालयीन कर्मचारी तथा दोनों पक्षों के वकीलों व उनके पक्षकारों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त कांच केबिन की व्यवस्था नहीं होती तब तक सुनवाई नहीं की जाएगी। प्रस्तुत होने वाले आवेदन, दावे, दस्तावेज को सैनिटाइज करने की आवश्यकता है। ताकि प्रत्येक वकील एवं पक्षकार कोविड-19 से बचाव हो सके। इस संबंध में बचाव के लिए शीघ्र कार्रवाई कर प्रकरणों की नियमित सुनवाई करने की व्यवस्था की जाने की मांग की है। उन्होंने कहा सुरक्षा के उपायों के अभाव में वकील व पक्षकारों की जान की सुरक्षा को देखते हुए वीसी से नियमित रूप से पैरवी करने में असमर्थ है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना