पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जयंती पर कहानी “विद्रोही’:जनवाद के लेखक हैं मुंशी प्रेमचंद

नीमच14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुंशी प्रेमचंदजी की जयंती पर जनवादी लेखक संघ द्वारा परिचर्चा का आयोजन किया गया। जिसमें मुंशी प्रेमचंदजी की कहानी “विद्रोही’ का वाचन करने के बाद उस पर वक्ताओं ने विचार रखे। जनवादी लेखक संघ के संयोजक निरंजन गुप्त राही ने बताया कि 31जुलाई मुंशी प्रेमचंदजी के जन्मदिवस पर वीर पार्क रोड स्थित कार्यालय में कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें प्रेमचंदजी की कहानी ‘विद्रोही’ का वाचन नाटककार विजय बैरागी मनासा द्वारा किया गया। जिस पर परिचर्चा हुई। शायर आलम तौकीर मियां ने कहा कि ‘विद्रोही’ पाकीजा मोहब्बत की कहानी है। जहां एक ओर प्रेमचंदजी जनवाद के लेखक है और आम जनवाद को लेकर रंगभूमि में लिखते है कि अब व्यापार का राज्य है जो इस राज्य को स्वीकार नही करेगा। उसके लिए ताकतें तोप और तमंचे लेकर हावी है। वही दूसरी ओर प्रेमचंद ‘विद्रोही’ जैसी कहानी में पाकीजा मोहब्बत की बात भी करते है। कामरेड शैलेंद्रसिंह ठाकुर ने कहा कि यह कहानी तात्कालीन सामाजिक मूल्यों और परंपराओं के विद्रोह को रेखांकित करती है, जो कि प्रेमचंद का स्वभाव भी है। क्योंकि पत्नी के पूछने पर की क्रांति हुई तो वे किसका साथ देगे। तब प्रेमचंद कहते है कि मजदूर और काश्तकारों का। क्योंकि मजदूर और काश्तकार फावड़ा और कुदाली चलाते है और मैं कलम चलाता हूं। परिचर्चा को कृपालसिंह मंडलोई, कवियत्री प्रियंका कविश्वर, विजय बैरागी, केसी सेन, कामरेड किशोर जवेरिया ने भी विचार व्यक्त करने के साथ गजलें भी सुनाई।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें