किसान परेशान / माॅडल एक्ट का विरोध, रोजगार की मांग, मंडी में प्रदर्शन, नीलामी रूकी

X

  • आक्रोश को देखते हुए मंडी प्रशासन ने पिछले गेट से दिया किसानों को प्रवेश

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 06:13 AM IST

नीमच. मॉडल मंडी एक्ट में संशोधन के विरोध में मंगलवार को कृषि उपज मंडी में हम्मालों-तुलावटियों और हाथ ठेला-टेम्पो चालकों ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों के आक्रोश को देखते हुए मंडी प्रशासन ने किसानों को पिछले गेट से प्रवेश दिया। करीब दो घंटे तक चले प्रदर्शन के दौरान मंडी में नीलामी नहीं हो सकी और किसान परेशान होते रहे। कई किसानों को प्रदर्शन की खबर पहले मिलने से मंडी में आवक भी प्रभवित हुई। देरी से नीलामी शुरू होने के कारण तोल कार्य भी शाम करीब 5 बजे तक चला। मंडी में एकमात्र बड़ा इलेक्ट्रिक तोल कांटा होने से पहले ही देरी होती है, उस पर नीलामी में देरी होने से कम आवक के बावजूद तोल कार्य देर तक चला। सामान्यत: मंडी में तोल कार्य शाम 4 बजे तक पूर्ण हो जाता है।
आवक पर असर, साढ़े 8 हजार बोरी उपज कम आई

कृषि उपज मंडी में पिछली बार हुए आंदोलन के दौरान किसान परेशान हुए थे। मंगलवार को हम्मालों के प्रदर्शन की खबर लगते ही राजस्थान व रतलाम, उज्जैन क्षेत्र की तरफ से आने वाले किसान कम आए, उस पर मौसम में अचानक बदलाव के कारण भी जो किसान नीमच मंडी आने वाले थे, वे मंदसौर मंडी तो राजस्थान के किसान निंबाहेड़ा व पिपलिया मंडी की तरफ चले गए। तो कई किसान मनासा मंडी ही रुक गए। कोटा से लहसुन व गेहूं लेकर आए अमृललाल गुर्जर व उसके साथियों ने बताया कि वे तो सुबह जल्दी आ गए थे। लेकिन आंदोलन की खबर लगी तो हमारे अन्य साथी नहीं आए। कुछ तो निंबाहेड़ा व मंदसौर मंडी लेकर पहुंचे तो कई अब बाद में उपज लेकर आएंगे। मंडी में सोमवार के मुकाबले आवके 8561 बोरी कम रही। सोमवार को कुल आवक 34 हजार 884 बोरी थी, जबकि मंगलवार को 26 हजार 323 बोरी ही उपज की आवक रही।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना