पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Neemuch
  • Referred 9 day old Innocent, Exhausted Oxygen On The Way, Brought Back, Kept In SNCU For Two Hours Then Sent By Ambulance

बड़ी लापरवाही:9 दिन के मासूम को किया रेफर, रास्ते में ऑक्सीजन खत्म, वापस लाए, दो घंटे एसएनसीयू में रखा फिर एम्बुलेंस से भेजा

नीमच2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बच्ची को ऑक्सीजन सपोर्ट पर गोद में लेकर बैठी आशा कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
बच्ची को ऑक्सीजन सपोर्ट पर गोद में लेकर बैठी आशा कार्यकर्ता।

जिला अस्पताल में मंगलवार को बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया। इससे 9 दिन के नवजात शिशु की जान पर बन आई और परिजनों को परेशान होना पड़ा। दरअसल हुआ यूं कि एसएनसीयू में भर्ती नवजात को गंभीर हालत में उदयपुर के लिए बिना पैरामेडिकल वाले जननी एक्सप्रेस वाहन से रेफर कर दिया। जिसमें मौजूद सिलेंडर में थोड़ी दूर जाते ही आक्सीजन खत्म हो गई। नवजात की सांसें फूलने लगी तभी परिजनों ने तत्काल वापस अस्पताल ले आए और दो घंटे एसएनसीयू में रखा। बाद में फिर 108 एम्बुलेंस से भेजा।

जिले के ग्राम नीलकंठपुरा निवासी प्रीति-नितेश ने 4 सितंबर को निजी अस्पताल में लड़की को जन्म दिया था। उसी दिन से बच्ची को सांस लेने में दिक्कत होने पर उसे जिला अस्पताल के एसएनसीयू में भर्ती कराया गया। 8 दिन तक भर्ती होने के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं होने के चलते मंगलवार दोपहर 12.30 बजे ड्यूटी डॉक्टर ने मेडिकल कॉलेज उदयपुर के लिए रेफर कर दिया। डॉक्टर ने ही फोन कर वाहन बुलाया लेकिन 108 के बजाए गर्भवती महिलाओं को ले जाने वाली जावद की जननी एक्सप्रेस वहां पहुंची जिसमें उन्हें भेज दिया।

बच्ची की हालत इतनी नाजुक थी कि उसे बिना ऑक्सीजन पर नहीं रखा जा सकता है। जिला अस्पताल से 5 किलोमीटर दूर कनावटी तक पहुंचने के बाद ही जननी के सिलेंडर में ऑक्सीजन खत्म हो गई। जब बच्चा घबराने लगा तो तुरंत परिजनों ने चालक को गाड़ी रोकने के लिए बोला और वापस जिला अस्पताल ले आए व फिर एसएनसीयू में शिफ्ट किया। नीतेश ने दुखी होते हुए कहा अस्पताल प्रशासन अपनी व्यवस्था में सुधार करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...