पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाइडलाइन आज जारी करेंगे:दुकानें नहीं खुलेंगी, सिर्फ होम डिलीवरी होगी क्योंकि हमारे यहां 250 एक्टिव केस

नीमच23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
संकट प्रबंधन समूह की बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधि व अधिकारी। - Dainik Bhaskar
संकट प्रबंधन समूह की बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधि व अधिकारी।
  • कृषि मंडी में नीलामी का दिन तय होगा, कल से लागू होगी व्यवस्था

1 जून से अनलॉक का इंतजार कर रही जनता को अगले सात दिन और घरों में रहना होगा। आवश्यक सामग्री में सिर्फ होम डिलेवरी की सुबह 11 से शाम 6 बजे तक रियायत मिलेगी। वह तक जब दुकानदार डिलीवरी करने वाले का काेराेना टेस्ट करवाकर निगेटिव रिपोर्ट लेगा। हमें छूट इसलिए नहीं मिली क्योंकि जिले में 250 पॉजिटिव मरीज है। इनकी संख्या 25 तक आएगी तभी रियायत मिलेगी। शासन की गाइडलाइन में 3 फीसदी से कम संक्रमण दर वाले जिले में रियायत देना है। नीमच जिले की दर 2.20 फीसदी है। 250 एक्टिव केस से संक्रमण का खतरा है।

क्राइसिस समिति की बैठक में रियायत मिलने का जनता को बेसब्री से इंतजार था। व्यापारी एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खोलने की छूट देने का प्रस्ताव रखा। मंत्री ने 250 एक्टिव केस होने का कारण बताकर रियायत देने से मना कर दिया। चेंबर ऑफ कॉमर्स व केट के अध्यक्ष ने कहा व्यापारियों को आर्थिक नुकसान हो रहा है। जनता परेशान है। रियायत दी जाए। उनकी बात पर कोई निर्णय नहीं हुआ। व्यापारी संगठनों में नाराजगी है। 15 से अधिक व्यापारी संगठनों ने रियायत देने की मांग करते हुए मंत्री व कलेक्टर को ज्ञापन भी सौंपा। होम डिलीवरी व मंडी खोलने को लेकर सोमवार को गाइडलाइन जारी की जाएगी।

सभी के सहयोग से हम अभी प्रदेश में 45वें स्थान पर आए हैं

कोविड प्रभारी मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा 250 पॉजिटिव मरीज होम क्वारेंटाइन है। वे बाजारों में नहीं घूमे, परिजन भी ध्यान रखें। ताकि अगले 7 दिन में हम यह संख्या 25 पर ले आए तो छूट पर विचार किया जाएगा। मंत्री सखलेचा ने कहा संक्रमण में नीमच प्रदेश में 10वें से 45वें स्थान पर आ गया है। यह सभी के सहयोग से संभव हुआ है। रतलाम, उज्जैन, जैसे शहरों में सख्ती नहीं हुई तो वे अभी भी टॉप 10 संक्रमित शहरों में शामिल हैं।

अनिरूद्ध माधव मारू मनासा ने कहा कि पहली प्राथमिकता लोगों को संक्रमण से बचाव की है। एसोसिएशन अपनी गाइडलाइन खुद बनाएं और यह तय करें कि हम हर जिम्मेदारी का सख्ती से पालन करेंगे तभी रियायत मिल सकेंगी। सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं होने से दूसरी लहर में हालत बिगड़े। अब ऐसा नहीं हो, इसलिए रियायत देना सही नहीं होगा। उन्होंने कहा हम किसी का व्यापार, व्यवसाय खराब नहीं होने देना चाहते हैं लेकिन अपना दायित्व सभी को समझना होगा।

दिलीपसिंह परिहार ने कहा कि जिले की संक्रमण 2.20 पर आ गई है। सभी के सहयोग से संक्रमण नियंत्रण में है। गाइडलाइन तो आ गई लेकिन प्रशासन को अपने स्तर पर तय करना है कि एक साथ छूट नहीं दी जाए। छूट मिलेगी तो भीड़ एक साथ आएगी और फिर हालात बिगड़ सकते हैं। किराना व आवश्यक सामग्री के साथ कृषि की दुकानें पहले खोली जाए सभी काे वैक्सीन लगवाएं। मंडी चालू करना जरूरी है। बारिश का समय नजदीक है। किसान उपज बेचकर अगली फसल की तैयारी करेगा।

15 से अधिक संगठनों ने रियायत की मांग करते हुए मंत्री व कलेक्टर को ज्ञापन सौंपे

अध्यक्षों ने ही आपत्ति ली
बैठक में विधायकों ने एसोसिएशन पर सवाल उठाए तो चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष जिनेंद्र डोसी ने कहा कि यह बताएं कि कौन सी एसोसिएशन के दुकानदार गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। कपड़ा, सर्राफा, बर्तन, रेडिमेड एसोसिएशन पर आरोप लगाना गलत है। रियायत सभी को दी जाएं। लोग परेशान हैं। व्यापारियों को आर्थिक नुकसान हो रहा है। प्रशासन सभी एसोसिएशन सदस्यों के साथ बैठक करें और उनकी राय जानें। इस पर मंत्री ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि सोमवार को सभी एसोसिएशन के साथ बैठक करें। कैट के जिलाध्यक्ष दीपक आसनानी ने कहा कि किराना व आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को रोज खोला जाए तथा बाकी दुकानों के लिए दो-दो दिन का समय तय करें ताकि व्यापारी अपना कारोबार फिर शुरू कर सकें।

5 दिन बाद फिर होगी बैठक

^जिले में बाजार नहीं खुलेंगे। अगले 7 दिन व्यापारियों को सुबह 11 से शाम 6 बजे होम डिलीवरी की अनुमति होगी। सोमवार को कुछ व्यापारी संगठनों के साथ चर्चा करने के बाद 1 जून से लागू होने वाली गाइडलाइन जारी होगी। 5 दिन बाद फिर समूह सदस्यों की बैठक में छूट देने के संबंध में निर्णय लिया जाएगा।
मयंक अग्रवाल, कलेक्टर, नीमच

खबरें और भी हैं...