कोरोना की दूसरी लहर:तीन महिलाओं ने तोड़ा दम, शहर में 12 दिन में बनाए 200 से ज्यादा कंटेनमेंट

नीमच8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सोमवार रात मिली रिपोर्ट में जिले के 51 नए पॉजिटिव, 446 एक्टिव, कुल संक्रमित 3939 हुए
  • तीन मे से दो पॉजिटिव व एक की रिपोर्ट आना बाकी, कोरोना प्रोटोकाल के तहत हुई अंत्येष्टि

सोमवार को एक दिन में जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती तीन महिलाओं ने दम तोड़ दिया। इनमें से दो की रिपोर्ट पॉजिटिव थी और एक संदिग्ध थी, जिनकी रतलाम से रिपोर्ट आना शेष है। इधर देर शाम को आई रिपोर्ट में 51 नए पॉजिटिव मिले। बढ़ते संक्रमण के साथ अब फिर से प्रशासन ने लोगों के घरों को कंटेनमेंट बनाकर सख्ती शुरू कर दी है। जिनकी पूरी निगरानी भी की जा रही है। कंटेनमेंट का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया जा रहा है। शहर के कोविड प्रभारी श्याम टांकवाल के अनुसार पिछले 12 दिनों में सिर्फ शहर के ही पॉजिटिव आए मरीजों के 200 से ज्यादा घरों को कंटेनमेंट बना चुके हैं।

कोराना सालभर बाद अब खतरनाक दौर में पहुंच चुका है। नीमच जैसे छोटे जिले में संक्रमण दर 9 से 10 प्रतिशत तक चल रही है। सोमवार को जिला अस्पताल के कोरोना आइसोलेशन में भर्ती शहर के बंगला नंबर 40 निवासी 70 वर्षीय संदिग्ध महिला समेत पॉजिटिव आ चुकी पिपलिया सिंगाड़िया पलड़ा निवासी 70 वर्षीय व हासपुर निवासी 46 वर्षीय महिला की उपचार के दौरान मौत हुई। तीनों महिलाओं का शहर के मुक्तिधाम पर कोरोना प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार किया। बढ़ते संक्रमितों व मौतों के साथ स्थिति हर दिन भयानक होती जा रही है। मास्क लगाए, दूरी बनाकर रखे और सैनिटाइज करते रहे।

मनासा के 16, शहर के 12 मरीज मिले
सोमवार देर रात नीमच व रतलाम लैब से आई 243 की रिपोर्ट में 51 नए पॉजिटिव आए। इसमें सबसे ज्यादा 16 मनासा व 12 नीमच शहर के शामिल है। जबकि शेष कुकड़ेश्वर, रामपुरा, नयागांव, जमुनियाकला, बोरखेड़ी, मालखेड़ा, उम्मेदपुरा, लेवड़ा, सिंगोली, जावद,हाड़ी पिपलिया, अल्हेड़, दरगपुरा क्षेत्र से पॉजिटिव मिले है। इसके साथ ही जिले में अब तक कुल पॉजिटिव का आंकड़ा 3939 और एक्टिव 446 हो गए हंै। जिला अस्पताल में हुई तीनों मौत के आंकड़े को विभाग ने बुलेटिन में नहीं जोड़ा।

जिले के कोरोना पॉजिटिव युवक की उदयपुर में मौत
नीमच तहसील के ग्रामीण क्षेत्र निवासी एक 35 वर्षीय युवक की कोरोना रिपोर्ट 8 अप्रैल को पाॅजिटिव आई थी। इसके बाद युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत को गंभीर देखते हुए उसे उदयपुर रेफर किया गया था। सोमवार को उदयपुर के एक निजी अस्पताल युवक ने भी दम तोड़ दिया है। हालांकि जिला प्रशासन इन मौतों के बारे में कोई पुष्टि नहीं कर रहा है। बाहर के अस्पतालों में जिले के मरीजों की उपचार के दौरान वहां मृत्यु की सूचना स्वास्थ्य विभाग तक नहीं पहुंच रही है।

प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी भी हुए संक्रमित
लक्षण दिखाई देने पर सोमवार को प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी ने भी अपना एंटीजन टेस्ट कराया जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही वे आइसोलेट हो गए है। एक दिन पहले रविवार को जिले की संकट प्रबंधन की बैठक लेने आए मंत्री हरदीप डंग समेत आला अधिकारियों के साथ उन्होंने दिनभर विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया था। मिले 500 से ज्यादा मरीज- पिछले साल अप्रैल में एक भी मरीज नहीं मिलने से नीमच ग्रीन जोन में था लेकिन इस साल अप्रैल के 12 दिन के दौरान 500 से ज्यादा मरीज आ चुके हैं।

बसों में बिना मास्क के सवारी दिखी तो आज होगी कार्रवाई

यात्री वाहनों में ओवर लोडिंग ना हो, सभी यात्री मास्क लगाकर रखें। बगैर मास्क के किसी भी सवारी को वाहन में ना बिठाए और यदि किसी के पास मास्क ना हो तो वाहन में चढ़ते समय उसे मास्क अनिवार्य रूप से दें। यात्री वाहनो में थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था भी करें। यह निर्देश कलेक्टर मयंक अग्रवाल ने यात्री वाहन संघ के पदाधिकारियों व आरटीओ को देते हुए कहा कि आज से प्रशासन व पुलिस की संयुक्त टीम कार्रवाई करेंगी। बैठक में एसपी सूरज कुमार वर्मा, एडीएम आरएस नायर भी उपस्थित थे।

अंधेरे में किया अंतिम संस्कार
सोमवार शाम करीब 5 बजे जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती ग्राम हासपुर निवासी 46 वर्षीय पॉजिटिव महिला की मौत हुई। जिसकी सूचना परिजनों काे दी गई और फिर नगरपालिका की टीम को बुलाया। वे शव को वाहन में लेकर शाम करीब 7 बजे मुक्ति धाम पहुंचे और फिर वहां अंधेरे में ही अंतिम संस्कार किया गया।

खबरें और भी हैं...