पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वच्छ सर्वेक्षण-2021:अस्वच्छ सर्वे, टीम सदस्य ने पहले साफ-सफाई करवाई फिर फोटो लेकर एप पर किया अपलोड

नीमच8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दूसरे दिन शौचालय देखने पहुंची टीम, दो टीम और पहुंची, 7 टीमें कर रही सर्वे

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लिए दिल्ली से आई पांच सदस्यीय टीम ने स्टार रेटिंग सर्वे के दूसरे दिन वार्डों में फीडबैक नहीं लिया। सार्वजनिक शौचालय की स्थिति देखी। यह भी पूरी तरह से मैनेज दिखाई दिया। बस स्टैंड के शौचालय की पहली सफाई करवाई फिर टीम के सदस्य से फोटो लेकर पोर्टल पर अपलोड किए। इस दौरान लोगों को टायलेट करने भी नहीं जाने दिया। ताकि टीम के सदस्य इनसे फीडबैक नहीं ले सके।

मूलचंद मार्ग पर आंबेडकर कॉलोनी जाने वाले टर्न पर स्थित शौचालय पर ताला लगा रहा। पहले दिन के सोमवार को 8 वार्डों के सर्वे में जितने लोगों से फीडबैक लिया था उसमें से 75 फीसदी ने नपा के खिलाफ अपनी बात कही थी। पहले दिन नपा की फजीहत के बाद नपा स्वास्थ्य अधिकारी विश्वास शर्मा को मंगलवार को यही पता नहीं रहा कि दो टीम ने किन वार्डों का सर्वे किया। जबकि हकीकत यह है कि जिन आठ वार्डों में सर्वे हुआ वहां भी फीडबैक नपा के खिलाफ ही रहा।

नगर पालिका द्वारा दीपावली बाद से स्वच्छ सर्वेक्षण की तैयारी की जा रही थी। चार महीने में कई काम कागजों में पूरे हुए। जमीनी स्तर पर स्वच्छता को लेकर ध्यान नहीं दिया। अधूरे निर्माणों को समय पर पूरा नहीं कराया। जनता की परेशानी का निराकरण नहीं किया। इसका खामियाजा नपा अधिकारियों को भुगतना पड़ रहा है। जनता नकारात्मक फीडबैक दे रही है। मंगलवार को फील्ड सर्वे की जगह टीम के सदस्यों ने सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति देखी। वहां भी कई खामियां मिली। शौचालय की सफाई नहीं, कर्मचारी यूनिफॉर्म में नहीं, हाथ के ग्लब्ज, लोगों की सुविधा साबुन नहीं मिले। एक शौचालय पर एक घंटे सर्वे किया। नपा स्वास्थ्य शाखा के अधिकारी दिनभर टीम के सदस्यों के साथ बाइक पर दौड़ते रहे। बुधवार को फिर से वार्डों में टीम के सदस्य पहुंचकर सर्वे करेंगे।

  • सदस्य सर्वे करते रहे तो लोगों को टायलेट करने भी नहीं जाने दिया
  • नाली निर्माण के कारण मूलचंद मार्ग के शौचालय पर लगा ताला
  • टीम ने वार्डों में रहवासियों से जो फीडबैक लिया नकारात्मक रहा
  • अधिकारी दिनभर टीम के सदस्यों के साथ बाइक पर दौड़ते रहे

सफाई करा लो- बोल टीम सदस्य चाय पीने के लिए होटल पर चला गया, 10 मिनट बाद लौटा तब सबकुछ ठीक था

सर्वे टीम का एक सदस्य दोपहर 1.10 बजे बस स्टैंड स्थित शौचालय का निरीक्षण करने पहुंचा। यहां नियुक्त कर्मचारी यूनिफॉर्म में नहीं मिले। टीम को देखते ही यूनिफॉर्म पहनी। टीम ने इनसे कुछ सवाल पूछे और टेबल पर रखे रसीद कट्‌टे व रजिस्टर के फोटो मोबाइल से लेकर पोर्टल पर अपलोड किए। इसके बाद शौचालय का निरीक्षण करने गए तो वहां गंदगी दिखाई देने पर कहा पहले सफाई करों फिर निरीक्षण करेंगे।

कर्मचारी सफाई में जुटे, टीम का सदस्य होटल पर चाय पीने चला गया। 10 मिनट में सबकुछ ठीक होने पर वापस पहुंचे और शौचालय के फोटो लेकर अपलोड किए। इस दौरान यात्रियों व आमजन को यहां टायलेट करने के लिए नहीं जाने दिया। इन्हें परिसर के ही बाहर खड़ा होने काे कह दिया। ताकि टीम के सदस्य द्वारा इनसे चर्चा नहीं की जा सके। इसी तरह महिला शौचालय की स्थिति रही। नगर पालिका ने अगर स्वच्छ सर्वे की पूरी तैयारी कर रखी थी तो लोगों को सर्वे में फीडबैक देने से दूर रखना कई तरह के सवाल खड़े कर रहा है।

बघाना में नपा के खिलाफ जाएगा फीडबैक

दिल्ली की टीम द्वारा नीमच सिटी व कैंट क्षेत्र के वार्डों में सर्वे कर फीडबैक लिया है। इसमें लोगों ने अपनी नाराजगी जताई। शहर के सबसे बड़े उपनगर बघाना में अभी टीम नहीं पहुंची है। यहां पर भी नपा की हकीकत सामने आएगी। लोगों को सुविधाएं नहीं मिली। सफाई पर भी ध्यान नहीं दिया। स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत जो काम होना थे वे भी नगरपालिका ने नहीं किए। कई वार्डों के रहवासी लंबे समय से परेशान है। 35 हजार आबादी वाले इस क्षेत्र में जनता सर्वे टीम के आने इंतजार कर रही है।

सिर्फ मुख्य सड़कों की धुलाई पर रहा फोकस
स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत नपा स्वास्थ्य अधिकारी का फोकस सिर्फ ट्रेंचिंग ग्राउंड की व्यवस्था सुधारने पर रहा। वहीं पर निर्माण कराए। शहर के वार्डों की सफाई पर ध्यान नहीं दिया। मुख्य बाजार व वार्डों में ही सफाई की। सीवरेज प्रोजेक्ट शुरू नहीं होने के कारण नालियों में गंदगी भरी हुई है। नपा द्वारा मुख्य सड़कों की रात के समय धुलाई करवाकर हजारों लीटर पानी बहा दिया। जबकि वार्डों की सड़कों को सुधारने लोगों को सुविधा देने पर ध्यान नहीं दिया। इसी कारण लोग नपा के खिलाफ फीडबैक दे रहे हैं।

^पहले दिन पांच टीमों ने आठ वार्ड का सर्वे किया था। मंगलवार को दो टीम और पहुंच गई। अब सात टीमें शहर के शौचालय की स्थिति देखने के साथ वार्डों में भ्रमण कर जनता से फीडबैक ले रही है। दूसरे दिन किन वार्डों में टीम पहुंची इसकी मुझे जानकारी नहीं है। अभी चार दिन सर्वे और चलेगा। -विश्वास शर्मा, स्वास्थ्य अधिकारी, नपा, नीमच

पानी में बहाया पैसा... 62.30 लाख रुपए खर्च किए स्वच्छता मिशन पर

नगर पालिका ने पिछले वर्ष स्वच्छता, शौचालय संधारण, सुलभ शौचालय निर्माण, पेशाबघर, कचरा घर, नालों की सफाई, ढोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए प्रावधान किया था। इसमें स्वच्छ भारत मिशन पर एक करोड़ में से 62.30 लाख खर्च करना बताए। हकीकत शहर में तीन तरह के डस्टबिन ही नजर नहीं आ रहे हैं। नालों की सफाई पर 10 लाख की जगह 23.07 लाख खर्च किए। जबकि पिछले वर्ष बड़े नालों की न तो सफाई हुई ना ही जलकुंभी निकाली गई। इसी तरह सार्वजनिक, सुलभ शौचालय निर्माण पर एक करोड़ के प्रावधान में से 5.08 लाख ही खर्च किए। पेशाबघरों के निर्माण पर 10 लाख में से 64 हजार, शहरी ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए 30 लाख में से 96 हजार ही खर्च किए। जब बजट की राशि ही खर्च नहीं हो सकी तो शहर कैसे साफ व स्वच्छ होकर नपा को अच्छी रैंक मिलेगी। लोगों को जागरूक करने व प्रचार-प्रसार पर भी अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें