पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विधि-विधान से होगी पूजन:16 दिनी महालक्ष्मी पूजन आज से शुरू

रतलाम7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भाद्रपद शुक्ल अष्टमी से आरंभ होकर अश्विन कृष्ण अष्टमी पर्यंत 16 दिन का महालक्ष्मी व्रत सोमवार से शुरू हो रहा है। यह व्रत घर में समृद्धि, शांति, वैभव को स्थापित करने वाला धन-धान्य में वृद्धि कराने वाला तथा परिवार के कल्याण के लिए किया जाता है। श्राद्ध पक्ष में 28 सितंबर को यह व्रत पूर्ण होगा।

व्रत में साधक महिलाएं व अन्य जो इस व्रत का पालन करना चाहते हैं वे मां लक्ष्मी का प्रतिदिन पूजन करते हैं। अभिषेक करते हैं जिससे उनके सभी मनोविचारों की शुद्धता आंतरिक शुद्धता होती है। घर में वैभव और समृद्धि का वास होता है।

व्रत में प्रतिदिन 16 बार हाथ-मुंह धोकर सुत के डोरी में 16 गांठ लगाकर महालक्ष्मी का विधि-विधान से पूजन किया जाता है। व्रतपूर्ण होने पर डोरी को दाहिनी भुजा में बांधा जाता है। षोडशोपचार पूजन कर 16 दिन तक महालक्ष्मी से मन की कामना व प्रार्थना की जाती है।

इससे धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष तक की प्राप्ति हो जाती है, जो व्यक्ति इस महालक्ष्मी व्रत को विधि-विधान से 16 दिन तक करता है व सभी कष्टों से मुक्ति होकर महालक्ष्मी की असीम कृपा उस पर होती है।

खबरें और भी हैं...