• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • 22 Station Master Positive, DEMU, Express Including All Passenger Trains And Goods Trains Closed

कोरोना इफेक्ट:22 स्टेशन मास्टर पॉजिटिव, डेमू, एक्सप्रेस सहित सारी यात्री ट्रेंनें और मालगाड़ियां बंद

रतलाम6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शुक्रवार को ट्रेन बंद होने के बाद सुनसान पड़े प्लेटफॉर्म नंबर एक व दो। - Dainik Bhaskar
शुक्रवार को ट्रेन बंद होने के बाद सुनसान पड़े प्लेटफॉर्म नंबर एक व दो।
  • रतलाम-फतेहाबाद-इंदौर सेक्शन में 20 मई तक लॉकडाउन
  • प्लेटफॉर्म क्रमांक 1 और 2 पर अब 28 दिन ऐसी ही स्थिति रहेगी

शुक्रवार से रेलवे ने रतलाम-फतेहाबाद-इंदौर सेक्शन में लॉकडाउन कर दिया। यह 20 मई तक चलेगा। इस दौरान इस रूट पर चलने वाली डेमू, एक्सप्रेस सहित तमाम स्पेशल यात्री ट्रेनें आगामी आदेश तक निरस्त रहेगी। मालगाड़ियां का संचालन भी बंद कर दिया है। वजह चौंकाने वाली है। मंडल के 45 स्टेशन मास्टर कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। इनमें अकेले 22 रतलाम-इंदौर सेक्शन के हैं। इसके अलावा इस रेल खंड के स्टेशन व अन्य कार्यालयों के 27 से ज्यादा कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं।

रेल खंड में तेजी से बढ़ती संक्रमितों की संख्या देखते हुए रेलवे को शुक्रवार से सेक्शन का पूरा रेल यातायात बंद करना पड़ा है। फिलहाल यह लॉकडाउन 28 दिन का है, तब तक स्थिति नियंत्रण में नहीं आई तो समय सीमा बढ़ाई जा सकती है। सालभर से चल रहे संक्रमण काल में अब तक रेलवे के 410 से ज्यादा रेलकर्मी संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से कई की मौत भी हो चुकी हैं।

22 मार्च 2020 को जनता कर्फ्यू के बाद से ही ट्रेनें बंद थी। करीब तीन महीने बाद धीरे-धीरे इन्हें चलाना शुरू किया था। रेलवे अपनी सभी ट्रेनें शुरू भी नहीं कर पाया था कि कोरोना की दूसरी लहर में व्यवस्थाएं फिर हाथ से फिसल गईं।

रेलवे का 44 बेड वाला कोविड वार्ड हाउसफुल

44 बेड वाला मंडल चिकित्सालय का कोविड वार्ड हाउसफुल हो गया है। पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद प्रशासन ने इसे दस दिन पहले ही शुरू करवाया था। फिलहाल 44 में से कुछ ही संक्रमित नाॅन रेलकर्मी है। यहां फिलहाल ऑक्सीजन की किल्लत नहीं हैं, क्योंकि रेलवे ने आइसोलेशन वार्ड में लगाए सिलेंडर मंगवा लिए थे।

आगे की तैयारी : निजी अस्पतालों से किया अनुबंध

  • मंडल चिकित्सालय के मेल सर्जिकल और मेटरनिटी वार्ड को कोविड में तब्दील किया जा रहा है। इससे 30 बेड और बढ़ जाएंगे। तैयारी चल रही है, दोनों वार्ड में शनिवार शाम या रविवार से संक्रमितों का इलाज होने लगेगा।
  • इमरजेंसी के लिए 80 फीट रोड स्थित जीडी अस्पताल से अनुबंध कर 25 बेड सुरक्षित किए हैं। रेलकर्मी वहां भी इलाज करा सकेंगे।
  • उज्जैन और आसपास के स्टेशनों के रेलकर्मियों के लिए रेलवे उज्जैन में व्यवस्था कर रहा है। इसके लिए निजी अस्पताल से टाइअप कर 50 बेड सुरक्षित किए हैं।
  • अब वैक्सीन लगवाना हो या इलाज करवाना, रेलकर्मी मनचाहे अस्पताल में करा सकेंगे। बिल व जरूरी दस्तावेज लगाने पर रेलवे भुगतान करेगा।

रेलवे ने ऐसे बंद किया रेल यातायात

  • निरस्त ट्रेन - डॉ. अंबेडकर नगर- रतलाम-डॉ आंबेडकर नगर, रतलाम-डॉ आंबेडकर नगर-रतलाम, भीलवाड़ा-रतलाम- भीलवाड़ा, इंदौर-दिल्ली-इंदौर, इंदौर-बीकानेर-इंदौर
  • शार्ट टर्मिनेट ट्रेन - रतलाम- ग्वालियर- रतलाम और रतलाम-भिंड-रतलाम ट्रेनों को रतलाम-इंदौर के बीच निरस्त कर दिया है। दोनों ही ट्रेन इंदौर से ग्वालियर और भिंड के लिए चलेगी।
  • डायवर्ट ट्रेन - इंदौर-जोधपुर ट्रेन अब वाया उज्जैन, नागदा चलेगी। इसी प्रकार जोधपुर- इंदौर ट्रेन रतलाम-नागदा होकर चलेगी।
खबरें और भी हैं...