• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • 6.3 Inches Of Rain In 5.30 Hours, Delhi Mumbai Rail Route Remained Closed For 4 Hours, 48 Colonies Submerged

रतलाम जल जंक्शन:5.30 घंटे में 6.3 इंच बारिश, दिल्ली-मुबंई रेल रूट 4 घंटे बंद रहा, 48 कॉलोनियां डूबीं, धोलावड़ डैम के 4 गेट खोले फिर भी 2 ओवरफ्लो

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश के दौरान दिल्ली-मुंबई ट्रैक की पटरियां डूब गईं। स्टेशन पर ही पानी प्लेटफॉर्म के बराबर आ गया। - Dainik Bhaskar
बारिश के दौरान दिल्ली-मुंबई ट्रैक की पटरियां डूब गईं। स्टेशन पर ही पानी प्लेटफॉर्म के बराबर आ गया।
  • सुबह 7 से 12 बजे तक हर घंटे औसतन 1.18 इंच बरसे बादल
  • इसके पहले 25 जुलाई 2015 को 15 घंटे में हुई थी 14 इंच बारिश

गणपति बप्पा की विदाई से पहले अनंत चतुर्दशी की सुबह रविवार को रतलाम में बादल दिल खोलकर बरसे। सुबह 7 से दोपहर 12.30 बजे तक सिर्फ 5.30 घंटे में 6.3 इंच बारिश हो गई। बरसाती बादलों की बेदिली से शहर में बाढ़ जैसे हालात हो गए। पॉश कॉलोनियों, निचली बस्तियों सहित 48 से ज्यादा इलाके एक से चार फीट तक डूब गए। इससे बाईजी का वास सहित कुछ बस्तियों के मकानों की छत और दीवारों को नुकसान पहुंचा। बारिश से शहर का ये हाल 6 साल बाद हुआ है। 25 जुलाई 2015 को सिर्फ 15 घंटे में 14 इंच बारिश हुई थी।

शहर में बारिश का दौर रात से ही जारी था। सुबह 7 बजे से मूसलधार बारिश शुरू हो गई जो दोपहर 12 बजे तक लगातार जारी रही। बरसात इतनी तेज थी कि शास्त्री नगर, जवाहर नगर, काजीपुरा से गुजर रहा सबसे बड़ा नाला ओवरफ्लो हो गया। पानी बाहर आकर सड़कों से होकर इलाकों के घर, दुकानों में घुस गया। बिजली बंद होने का असर मोबाइल टॉवरों पर भी हुआ। मोबाइल कंपनियों के 8 टॉवर बंद हो गए। इससे दो घंटे तक कई क्षेत्रों में नेटवर्क की समस्या रही। शहर के पेजयल के प्रमुख स्त्रोत धोलावड़ डैम लबालब हो गया। डैम के 4 गेट 3-3 मीटर तक खोले गए। इसके बावजूद 2 गेट से पानी ओवरफ्लो होने लगा।

आगे क्या : सिस्टम बरकरार, अगले 24 घंटे भी बारिश के आसार

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक आगामी 24 घंटे बारिश के आसार बने हुए हैं। झाबुआ, रतलाम और आलीराजपुर जिले में भारी बारिश हो सकती है। अभी सिस्टम का असर बरकरार है। सितंबर के आखिर तक बारिश की एक्टिविटी देखने को मिलेगी।

बारिश : 6 साल बाद ऐसी आफत

बारिश का दौर शहर में शनिवार रात से जारी था। 33 घंटे में 9.25 इंच बारिश दर्ज की गई है। सबसे ज्यादा बारिश सुबह 8.30 बजे से दोपहर 2 बजे तक 6.29 इंच रही। इससे पहले 2015 में जिले में 15 घंटे में साढ़े सात इंच बारिश दर्ज की गई थी। वहीं रतलाम शहर में 14 इंच बारिश हुई थी। देर रात हुई इस बारिश में भी शहर के कई इलाकों में पानी भर गया था।

रेलवे : 7 ट्रेनों को रास्ते में रोका

प्लेटफॉर्म के लेवल तक पानी भरने (वॉटर लागिंग) से रतलाम स्टेशन के सारे ट्रैक फेल हो गए। इससे सुबह 8.25 बजे दिल्ली-मुंबई रूट का रेल यातायात ठप हो गया। स्थिति बिगड़ने पर रतलाम की ओर आने वाली सात गाड़ियों को जहां थीं वहीं रोकना पड़ा। बारिश रुकने के बाद 11.30 बजे प्लेटफॉर्म के ट्रैक से पानी खाली हुआ। दोपहर 12.30 बजे से ट्रेनों का मूवमेंट चालू हुआ।

बिजली : 3 ग्रिड में भराया पानी

पानी भराने के कारण शहर के 11 में से तीन पॉवर हाउस रोड, अहिंसा ग्राम और विरियाखेड़ी वाले ग्रिड बंद करना पड़े। इससे 10 फीडर से होने वाली बिजली सप्लाई दोपहर 12.15 बजे तक बंद रही। शहर ईई विनय प्रताप सिंह, वीर बहादुरसिंह मरकाम सहित टीम ग्रिड पर नजर रखे रही। पानी उतरने पर दोपहर 3 बजे ग्रिड चालू किए।

नुकसान : 22 मकान क्षतिग्रस्त

शहर में 20 से 22 मकानों को नुकसान पहुंचा है। कोई जनहानि नहीं हुई। प्रशासन सोमवार से सर्वे शुरू करेगा और शाम तक ही रिपोर्ट बन जाएगी। मंगलवार को प्रभावित व्यक्तियों के बैंक खातों में राहत राशि ट्रांसफर कर दी जाएगी। इसके पहले सुबह कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने बाढ़ग्रस्त इलाकों का जायजा भी लिया।

प्रदेश में सबसे ज्यादा बारिश रतलाम में

9 घंटे में प्रदेश में सबसे ज्यादा बारिश रतलाम में दर्ज की गई है। सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 के बीच रतलाम में 6.33 इंच बारिश दर्ज की गई। सतना में 4 मिमी, गुना में 2 मिमी बारिश रही।

अब तक 42.28 इंच बारिश, कोटा (36.15 इंच) पूरा

बारिश से रतलाम शहर का कोटा पूरा हो गया। यहां 36.15 इंच पानी की जरूरत थी। शनिवार तक 35.94 इंच बारिश हुई थी। रविवार तक 42.28 इंच हो गईं। पिछले साल अब तक शहर में 38.54 इंच बारिश हुई थी।

खबरें और भी हैं...