जानलेवा संक्रमण:पाॅक्सो एक्ट में सजा पाए 82 साल के कैदी की कोरोना से मौत

रतलाम6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पाॅक्सो एक्ट में सजा काट रहे 82 वर्षीय वृद्ध की कोरोना से मौत हो गई। तबीयत खराब होने पर सिविल हाॅस्पिटल भर्ती कराया था जहां से पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने पर मेडिकल कॉलेज भिजवा दिया था। जेल उप अधीक्षक वीबी प्रसाद ने बताया छेड़छाड़ और पाॅक्सो एक्ट का आरोप सिद्ध होने पर गिरधारी पिता पूरालाल मेघवाल (82) निवासी मेड़ीमाता जावद (नीमच) को 28 जनवरी 2020 को पांच साल की सजा हुई थी।

ओवरक्राउड के कारण उसे नीमच से खाचरौद जेल भेज दिया था। खाचरौद जेल में तबीयत खराब होने पर इलाज के लिए 31 जुलाई 2020 को सर्किल जेल रतलाम भिजवा दिया था। रतलाम में उसका इलाज चल रहा था। तबीयत खराब होने पर 20 अप्रैल 2021 को भर्ती कराया था जहां से 23 अप्रैल को डिस्चार्ज कर दिया था। जेल में आने पर उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा।

24 अप्रैल को एहतियातन कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया। दोबारा तबीयत खराब होने पर 25 अप्रैल को भर्ती कराया। 26 अप्रैल को पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने पर मेडिकल कॉलेज भेज दिया जहां बुधवार को उसकी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...