पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • After 225 Years, Only Sesame And Jaggery Will Be Served And Gosewa Will Be Worshiped By The Sun, There Will Be A Bath, Nor Will The Gilli Dandas Move

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड वैक्सीन:225 साल बाद सिर्फ तिल और गुड़ का भोग और गोसेवा करके होगी सूर्य उपासना, स्नान होगा, न गिल्ली-डंडे चलेंगे

रतलाम8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मकर संक्रांति पर भारी कोरोना महामारी }सालों से बाहर जाकर स्नान करने वाले भी इस बार घर पर ही रुक करेंगे पूजन-स्नान

कोविड वैक्सीन शहर में पहुंचने के बावजूद मकर संक्रांति का उल्लास फीका रहेगा। गुरुवार सुबह 8.14 बजे सूर्य धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करेगा। इसके बाद श्रद्धालु सिर्फ मंदिरों में देव दर्शन, तिल-गुड़ का भोग, दानपुण्य और गौशाला में गोसेवा करके सूर्य उपासना करेंगे। कोरोना संक्रमण के डर से माही नदी, त्रिवेणी कुंड, अमृत सागर और हनुमान ताल पर स्नान नहीं होगा तो टीम बनाकर खेला जाने वाला गिल्ली-डंडा का खेल भी नहीं खेला जाएगा। इसकी मुख्य वजह है त्रिवेणी मेले का न लगना, जिसमें ग्रामीण अंचल के कारीगर खास तौर पर गिल्ली-डंडा बनाकर बेचते थे। मेला नहीं लगने से इस बार शहर में गिल्ली-डंडे ही नहीं मिल रहे हैं। जानकारों के मुताबिक शहर में गिल्ली-डंडा खेलने की परंपरा 225 साल पुरानी है, जो मकर संक्रांति के पहले ही खेला जाना शुरू हो जाता है। इस बार किसी भी ग्राउंड में खेल की शुरुआत नहीं हो पाई है।

नहीं कर पाएंगे शिप्रा में स्नान
5 साल से उज्जैन जाकर शिप्रा स्नान करने वाला वरदान नगर निवासी नरेश शर्मा का परिवार इस बार नहीं जाएगा। नरेश का कहना है इच्छा तो है लेकिन परिवार को कोरोना महामारी से बचाना जरूरी है। इस बार घर पर ही रहकर पूजा करेंगे।

राशि अनुसार क्या करना चाहिए दान
मेष- अनाज, जलाऊ लकड़ी, वस्त्र
वृषभ- वस्त्र, पुष्प, पाठ्यपुस्तक, कलम
मिथुन- मूंग हरी, पत्तेदार सब्जियां और किताब-काॅपी
कर्क- चावल, सफेद वस्त्र
सिंह-गेहूं, फल, ऊनी वस्त्र
कन्या-उद्यान में पौधों का रोपण, तिल
तुला- साड़ी, वस्त्र, शृंगार संबंधित सामग्री
वृश्चिक- जलाऊ लकड़ी, दाल, बर्तन
धनु- किताब काॅपी, पाठ्यपुस्तकें, धार्मिक पुस्तकें, पूजन सामग्री
मकर- पादुका, जलाऊ लकड़ी, अनाज, दूध से निर्मित सामान
कुंभ- पादुका, तेल, लोहे संबंधी सामग्री
मीन- अनाज, वस्त्र, पूजन सामग्री

छह साल बाद शहर में मनाएंगे संक्रांति

विनोबा नगर निवासी कमल गुरनानी का परिवार छह साल बाद शहर में मकर संक्रांति मनाएगा। उन्होंने बताया तीन साल से ओंकारेश्वर जाकर नर्मदा स्नान कर रहे थे। इसके पहले उज्जैन जाते थे। तिल-गुड़ के व्यंजन बनाए हैं। भगवान को उनका भोग लगाकर पुण्य के लिए गोशाला में जाकर सेवा करेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser