पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

निकाय चुनाव:भाजपा सत्ता तो कांग्रेस युवा नेतृत्व के भरोसे

रतलाम9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपा काे 36 तो कांग्रेस काे 30 वार्ड में दिख रही उम्मीद

नए वार्ड आरक्षण के बाद नगरीय निकाय चुनाव में कांटे की टक्कर होना तय है। वोट बैंक और आरक्षण का हिसाब-किताब लगाते हुए भाजपा और कांग्रेस के नेता चुनाव के लिए घेराबंदी में जुट गए हैं। पूर्व परिषद में बहुमत में रही भाजपा इस बार 36 तो कांग्रेस 30 से ज्यादा वार्ड में परचम लहराने का दावा ठोंक रही हैं। राजनीतिक बिसात हालांकि भाजपा के पक्ष में हैं। एक तो राज्य में फिर से सत्ता में है, दूसरा शहर में विधायक चेतन्य काश्यप की अच्छी पकड़ है। दूसरी तरफ कांग्रेस का सारा दारोमदार पूर्व नेता प्रतिपक्ष यास्मीन शेरानी और नए जिलाध्यक्ष बने महेंद्र कटारिया पर है। दूसरा कोई नेता दम भरता नजर नहीं आ रहा। इसलिए कांग्रेस नेताओं को ज्यादा पसीना बहाना पड़ेगा।

वार्ड आरक्षण के बाद दोनों पार्टियां बहुमत के समीकरण बनाने में जुटीं

कांग्रेस

  • पहले चुनाव होते तो कांग्रेस को अपनी सरकार का फायदा मिलता। हालांकि अभी भी संभावना थी।
  • अब तक के पांच चुनाव में दो बार पहले और तीसरे में कांग्रेस पार्षदों की संख्या भाजपा से अधिक रही रही है। 1994-95 के चुनाव में महापौर भी कांग्रेस का रहा।
  • 2014 के चुनाव में कांग्रेस के 13 पार्षद जीते थे, 6 निर्दलीयों में से 3 ने कांग्रेस को समर्थन दे दिया था। शहर से पूर्व नेता प्रतिपक्ष यास्मीन शेरानी और नए जिलाध्यक्ष महेंद्र कटारिया अभी से सक्रिय हो गए हैं।

भाजपा

  • 2014 के चुनाव में 49 में से 30 वार्ड में भाजपा ने कब्जा जमाया था। तीन निर्दलीयों ने भी समर्थन दिया था।
  • पांच परिषदों में भाजपा का बहुमत रहा। इतना ही नहीं तीन बार महापौर पद भी भाजपा के पाले में रहा। इसलिए इस बार भी भाजपा को बहुमत आने की पूरी उम्मीद है।
  • राज्य में भाजपा फिर सत्ता में आ गई है। इसके पहले 2019 में लोकसभा चुनाव जीत चुकी है। उस पर शहर में विधायक चेतन्य काश्यप की बेहतर पकड़ है।

अब तक की परिषद की स्थिति

महापौर भाजपा कांग्रेस निर्दलीय
जयंतीलाल जैन 18 25 6
पारस सकलेचा 27 16 6
आशा मौर्य 21 23 5
शैलेंद्र डागा 23 22 4
डॉ. सुनीता यार्दे 30 13 6
(आंकड़े जनप्रतिनिधियों से चर्चा के अनुसार)

हालिया वार्ड आरक्षण से भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ेगा। पू‌र्ण बहुमंत से परिषद में आएगी। इतना नहीं पार्षदों की संख्या 36 के पार भी जा सकती है।
पवन सोमानी, वरिष्ठ भाजपा नेता

नई परिषद में बहुमत कांग्रेस का ही होगा। आरक्षण के पहले सूची बनाना थी, वह भी नहीं बनाई। शहर की हालत सबके सामने हैं। भाजपा ने कुछ नहीं किया। महामारी में नेता घरों में बैठे रहे। यास्मीन शेरानी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें