• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Cabinet Approval For Rail Route Doubling Between Ratlam Neemuch, 133 Km Of Rail Route Will Be Ready By March 2025 At A Cost Of 1095 Crores

रतलाम-नीमच रेलमार्ग दोहरीकरण प्रोजेक्ट को मंजूरी:वीडियो कांफ्रेंस के जरिए केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने दी जानकारी, 1095 करोड़ की लागत से 133 किमी रेलमार्ग मार्च 2025 तक होगा तैयार

रतलाम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी जानकारी - Dainik Bhaskar
रेलमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी जानकारी

रतलाम रेल मंडल के रतलाम-नीमच रेल मार्ग दोहरीकरण को कैबिनेट की मंजूरी मिल गई। 1095 करोड़ों रुपए की लागत से 133 किलोमीटर लंबाई के रेल मार्ग का दोहरीकरण किया जाएगा। इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को मार्च 2025 तक पूर्ण कर लिया जाएगा। केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रतलाम रेल मंडल सहित अन्मंडलों को दी गई सौगात के बारे में जानकारी दी है। गौरतलब है की रतलाम से नीमच रेलमार्ग पर वर्तमान में कैपेसिटी से 150% अधिक लोड है। रेलमार्ग के दोहरीकरण के बाद लाइन कैपेसिटी बढ़ेगी। वहीं ट्रांसपोर्टेशन के साथ यात्री गाड़ियों की संख्या भी बढ़ाई जा सकेगी।

मार्च 2025 हो जाएगा रतलाम-नीमच रेलमार्ग दोहरीकरण का कार्य

केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में रतलाम रेल मंडल को बड़ी सौगात मिली है। रतलाम मंडल के बहुप्रतीक्षित रतलाम नीमच रेल मार्ग दोहरीकरण के प्रोजेक्ट को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने स्वीकृति दे दी है। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रेस कॉन्फ्रेंस रतलाम रेल मंडल सहित अन्य रेल मंडलों को दी गई सौगात के बारे में जानकारी दी है।

रेलमंत्री ने बताया कि रेलमार्ग दोहरीकरण से राजस्थान और मध्यप्रदेश दोनों राज्यों को फायदा मिलेगा। रेलमार्ग दोहरीकरण के प्रोजेक्ट को ईपीसी मॉडल से पूर्ण किया जाएगा। 1095 करोड़ रुपए की लागत से रतलाम से नीमच के बीच 133 किलोमीटर लंबाई के रेलमार्ग का दोहरीकरण कार्य 3 साल मैं किया जाएगा जिसकी समय सीमा मार्च 2025 रखी गई है।

प्रधानमंत्री ने दी बधाई

रतलाम-नीमच रेलमार्ग दोहरीकरण से यह होंगे फायदे

  • ट्रेनों की संख्या बढ़कर 30 से अधिक हो जाएगी, वर्तमान में पैसेंजर, एक्सप्रेस, मेल एक्सप्रेस, साप्ताहिक मिलाकर 16 जोड़ी यात्री गाड़ी चल रही है।
  • माल लदान में 50 प्रतिशत तक का इजाफा होगा, जिससे रेलवे का राजस्व बढ़ेगा। नीमच व चित्तौड़गढ़ क्षेत्र में 10-12 सीमेंट फैक्टरियां हैं।
  • मालगाड़ियों या पैसेंजर ट्रेन को क्रॉसिंग लिए पैसेंजर ट्रेन को स्टेशन पर नहीं खड़ा रहना पड़ेगा। यात्री गाड़ियां परिचालन समय पर होगा।
  • नई ट्रेनें चलाई जा सकेंगी।
खबरें और भी हैं...