• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Case Registered Against 9 Illegal Colonizers In Tal After Ratlam's Name, Case Registered For Selling Plot By Developing Colony Without Permission

रतलाम के ताल में अवैध कॉलोनाइजरों पर बड़ी कार्रवाई:रतलाम के नामली के बाद ताल में 9 अवैध कॉलोनाइजरों पर प्रकरण दर्ज, बिना अनुमति कॉलोनी विकसित कर प्लॉट बेचने के मामले में कार्रवाई

रतलाम12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फ़ाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फ़ाइल फोटो

प्रशासन द्वारा अवैध कॉलोनियों के विरुद्ध कार्रवाई लगातार जारी है । बीते दिनों नामली नगर परिषद में 14 कॉलोनाइजर पर प्रकरण दर्ज करने के बाद अब रतलाम के ताल नगर परिषद में भी अवैध कॉलोनी काटने वाले 9 कॉलोनाइजर पर धोखाधड़ी और बिना अनुमति कॉलोनी काटने के मामले में प्रकरण दर्ज किया गया है। प्रशासन ने जिले में दूसरी बड़ी कार्रवाई करते हुए ताल थाने में 9 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी और मध्य प्रदेश नगर पलिका अधिनियम के अंतर्गत का प्रकरण दर्ज करवाया है।

गौरतलब है कि जिला प्रशासन ने अवैध कॉलोनी और भूमाफिया के खिलाफ मुहिम शुरू की । इसमें रतलाम शहर के अलावा जिले के नामली ,जावरा, आलोट, सैलाना, पिपलोदा जैसे कस्बों में भी बड़ी संख्या में अवैध कॉलोनी काटी गई है। जिन्हें चिन्हित कर प्रशासन कार्रवाई में जुटा हुआ है । बीते दिनों ही नामली के 14 कॉलोनाइजर पर अवैध कॉलोनी काटने के मामले में प्रकरण दर्ज किया गया था।

ताल पुलिस थाने पर प्रकरण दर्ज
ताल पुलिस थाने पर प्रकरण दर्ज

दरअसल ताल नगर परिषद की प्रभारी सीएमओ कन्हैयालाल सूर्यवंशी की शिकायत पर ताल थाने में ताल निवासी प्रह्लाद पोरवाल, विजय पोरवाल, शेरू खान ,रिजवान खान, अहमद खान, दिनेश, राधु राजेंद्र कुमार निवासी नागदा, एवं शंकरलाल राठौड़ निवासी नामली पर अवैध कालोनी काटने के मामले में धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। इन आरोपियों ने ताल कस्बे में कुल पांच स्थानों पर अवैध कॉलोनी काटकर भूखंड बेचे हैं। ताल के पंथ पिपलोदा रोड , भैंसाना रोड और मकनपुर रोड पर यह अवैध कॉलोनियां काटी गई थी।

बहरहाल अवैध कॉलोनी काटने के मामले में नामली और ताल क्षेत्र में हुई कार्रवाई के बाद जिले के अन्य कस्बों में भी अवैध कॉलोनाइजरों में हड़कंप मचा हुआ। प्रशासन के द्वारा किसी भी प्रकार के माफिया के बारे में सूचना देने के लिए जारी किए गए हेल्पलाइन नंबरों पर अवैध कॉलोनी काटने के मामले में बड़ी संख्या में शिकायत पहुंची है जिस पर प्रशासन की सख्त कार्रवाई जारी है।

खबरें और भी हैं...