• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • City Traffic, Neither Vegetable Markets Can Be Removed Nor Encroachment, One way Planning Is Sluggish, There Is Jam In Kasturbanagar, Grass Market, Naulaipura

सुगम हो शहर का ट्रैफिक:सिटी ट्रैफिक, ना सब्जी मंडियां हटा पाए और ना अतिक्रमण, वन-वे की प्लानिंग सुस्त, कस्तूरबानगर , घास बाजार, नौलाईपुरा में लगता है जाम

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 20 नवंबर को प्लान बना, 3 दिन में लागू करना था, 17 दिन बाद भी यातायात बेहाल
  • समाधान : शहर की सभी प्रमुख सड़कें चौड़ीं और खराब ट्रैफिक सिग्नल चालू हों, चौराहों की रोटरियां ठीक करना जरूरी

हमेशा की तरह शहर की बेलगाम ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने 17 दिन पहले अफसर, नेता और प्रबुद्ध नागरिकों द्वारा मिलकर बैठकर बनाया प्लान फाइलों में बंद होकर रह गया है। तीन दिन में व्यवस्था बनाकर और सात दिन तक ट्रायल कर प्लान लागू करना था। यातायात बेहाल है। कस्तूरबा नगर तिराहा, घास बाजार और नौलाईपुरा जैसे इलाकों की सड़कों पर बार-बार जाम की समस्या बरकरार है। दो बत्ती और सैलाना बस स्टैंड चौराहा पर लगे सिग्नल खराब है। माणकचौक का वन-वे प्लान अधूरा है। स्थाई-अस्थाई कब्जा हटाकर सड़कों को चौड़ा करने, खराब सिग्नलों और चौराहे की रोटरियों को ठीक करने से समस्या का समाधान हो सकता है।

कस्तूरबानगर : सिग्नल की अब तक प्लानिंग भी नहीं

  • अभी हाल - दिन में 10 से 12 बार यातायात जाम लगता है, ऑफिस टाइम में तो ट्रैफिक जवानों को मोर्चा संभालना पड़ता है।
  • ऐसा क्यों - एक तरफ सुभाष नगर ओवर ब्रिज का निर्माण चल रहा है, दूसरी तरफ लक्ष्मणपुरा रोड सीवरेज के काम से बंद है। ऐसे में विरियाखेड़ी और जवाहरनगर के आसपास की कॉलोनियों के लोग कस्तूरबानगर तिराहे से आवाजाही कर रहे हैं। यातायात ज्यादा हैं, कॉलोनियों का अतिरिक्त लोड आ गया है।
  • समाधान - कस्तूरबा नगर तिराहे पर सिग्नल लगाए जाए। राम मंदिर के पीछे वाले सब्जी मंडी दूसरी जगह शिफ्ट हो, गुजरात स्वीट्स और चार बत्ती चौराहा तरफ से वन-वे ट्रैफिक निकाला जाए।

नौलाईपुरा : संकरी सड़क और उस पर अतिक्रमण

  • अभी हाल - गणेश देवरी से चौमुखी तक जा रहे 450 मीटर लंबे नौलाईपुरा में 35 से ज्यादा ठेलागाड़ी वाले सड़क पर खड़े होकर व्यापार कर रहे। दोनों तरफ के दुकानदारों ने दुकानों के आगे चार से पांच फीट तक कपड़े व अन्य सामान रख देते हैं।
  • ऐसा क्यों - यह क्षेत्र का सबसे व्यस्ततम बाजार है। जोकि चांदनीचौक-पोरवाड़ों का वास को भी जोड़ता है। साड़ियों और सोने के लिए यह क्षेत्र प्रमुख है। यहां ऑटो चालक के फेरे सबसे ज्यादा लगते है, कई बार तो ऑटो की लंबी कतारें लग जाती है। लोडिंग वाहन भी दिन में आ रहे है। ठेला गाड़ी भी जाम का कारण बनती है।
  • समाधान - वन-वे सिस्टम लागू हो, लोडिंग वाहन रात 8 बजे बाद ही प्रवेश कर सके।

धानमंडी : रोड पर खड़े हैं लोडिंग वाहन, लगता है जाम

  • अभी हाल - धानमंडी में रोड पर ही लोडिंग वाहन खड़े रहे, दिन में कई बार जाम की नौबत बनीं।
  • ऐसा क्यों - यह क्षेत्र व्यवसायिक है। ऐसे में लोडिंग वाहन की आवाजाही दिनभर होती है। वहीं, बाजार क्षेत्र को जोड़ने के लिए यह प्रमुख रोड है। ऐसे में जाम की नौबत बनती है।
  • समाधान - लोडिंग वाहन का प्रवेश रात 8 बजे बाद बंद हो, पार्किंग व्यवस्थित होनी चाहिए।

पार्किंग लाइन डाल रखी है, इससे बाहर खड़े रहने वाले वाहनों के चालान बना रहे है। सब्जी मंडियों की शिफ्टिंग नहीं हुई, इसलिए प्लान आगे नहीं बढ़ा है। - मोनिका सिंह, प्रभारी ट्रैफिक

खबरें और भी हैं...