पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आक्रोश:प्याज के तौल में देरी होने से अनाज मंडी में किसानों का हंगामा, गेट बंद किया

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आधे घंटे तक किसानों ने गेट पर किया हंगामा

व्यापारी द्वारा प्याज खरीदने के बाद समय पर तौल नहीं करने से अनाज मंडी में सोमवार शाम को किसान नाराज हो गए और उन्होंने मंडी का गेट बंद कर दिया। आधे घंटे तक हंगामा चला। इसके बाद किसानों को समझाया और प्याज का तौल शुरू किया। तब कहीं जाकर किसान माने।

सुबह प्याज की नीलामी हुई। सैयद अहमद अली फर्म ने किसानों का प्याज खरीद लिया। इसके बाद तौल होना था और फिर भुगतान होना था। लेकिन जरूरत से ज्यादा ट्रॉली प्याज की खरीदी करने से तौल में समय लग रहा था। इस पर किसान नाराज हो गए और बोले कि रविवार रात से आए हैं और शाम हो गई है लेकिन हमारे प्याज का तौल नहीं हो पा रहा है।

इस पर व्यापारी ने कहा कि लेबर की कमी है। किसानों ने बताया ट्राला खुलवाकर नीलामी कर ली और उसके बाद प्याज उठाया नहीं जा रहा है। हम्माल भी नहीं दिया जा रहा है। इससे हमें माल उठाना पड़ रहा है। इस पर किसानों ने मंडी गेट बंद कर दिया। इसके बाद मंडी प्रशासन ने तौल की व्यवस्था का भरोसा दिलाया, तब किसान माने। प्याज एवं लहसुन मंडी के प्रभारी मुकेश ग्रेवाल ने बताया कि व्यापारी के पास लेबर की कमी थी। इससे तौल में देर हो गई। किसान नाराज हो गए, बाद में उन्हें समझा दिया।

ना तो किसानों को नकद भुगतान कर रहे, ना आरटीजीएस से, किसानों ने की शिकायत

किसानों से उपज खरीदने के बाद व्यापारी द्वारा भुगतान नहीं करने का मामला सामने आया है। किसानों ने इसकी शिकायत मंडी प्रशासन को की है। अब मंडी प्रशासन किसानों के रुपए वापस लौटाने में जुटा है। किसानों ने बताया कि उन्होंने कृष्णा ट्रेडिंग फर्म में उपज बेची। सेम डे भुगतान का नियम है। लेकिन किसी किसान को चार दिन हो गए हैं तो किसी को एक सप्ताह हो गया है। लेकिन अभी तक भुगतान नहीं मिल पाया है।

फर्म द्वारा ना तो नकद भुगतान किया जा रहा है और ना ही आरटीजीएस से। इससे हमारा भुगतान दिलाया जाए। यह पहला मौका नहीं है जब कृष्णा ट्रेडिंग की शिकायत मंडी प्रशासन को मिली है। चार दिन पहले नायन के किसान लाखनसिंह ने भी मंडी प्रशासन को शिकायत की थी।

मंडी प्रशासन को शिकायत में किसान ने बताया था कि 12 अक्टूबर को कृष्णा ट्रेडिंग पर 44.75 क्विंटल सोयाबीन बेची थी। 1 लाख 69 हजार 896 रुपए का पेमेंट हुआ, लेकिन व्यापारी नहीं चुका रहा है। इसके बाद चार दिन बाद मंडी के प्रांगण प्रभारी की मौजूदगी में प्रशासन ने भुगतान करवाया था। इसके बाद फिर किसानों ने शिकायत की है। इसके पहले मंडी प्रशासन संबंधित व्यापारी पर नीलामी में भाग लेने से रोक लगा चुका है।

लाइसेंस गारंटी का क्या है
प्याज एवं लहसुन मंडी युवा व्यापारी संघ अध्यक्ष निलेश बाफना ने बताया कि संघ के जरिए जो लाइसेंस जारी होते हैं, उनकी तो मंडी प्रशासन ने गारंटी बढ़वा ली लेकिन मंडी प्रशासन द्वारा जो लाइसेंस जारी होते हैं, उनकी गारंटी का क्या। वो भी तो बढ़ना चाहिए। मंडी प्रशासन द्वारा जो लाइसेंस जारी किए जाते हैं उनके लिए नियम नहीं है।

निर्देश दिए हैं
एसडीएम व मंडी के भारसाधक अधिकारी अभिषेक गेहलोत ने बताया कि मामला जानकारी में आया है। मंडी सचिव मामले को दिखवा रहे हैं। कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें