ईद-उल-फितर की तैयारी / पहली बार जौहर की नमाज ही बनी जमातुल विदा, घर पर अदा की

X

  • मसजिदों में नहीं हुआ अलविदा खुत्बा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

रतलाम. शुक्रवार को रमज़ानुल मुबारक का अलविदा जुमा या जमातुल विदा मनाया गया। इसी के साथ मुबारक रमजान महीना आखिरी पड़ाव की ओर आ गया। काेविड-19 और लॉकडाउन की गाइडलाइन की वजह से मसजिदों में जुमा की नमाज अदा नहीं हो सकी। नमाजियों ने घर में ही जौहर की नमाज कायम की। 

शनिवार को रमजान की 29वीं शब के साथ आखिरी ताक रात होगी और चांद रात भी हो सकती है। शहर काजी सैयद एहमद अली ने कहा कि प्रशासन ने जमातुल विदा की इजाजत देने से इंकार कर दिया था। इसको लेकर इजाजत तलब की गई थी। मुस्लिमों के लिए जमातुल विदा के बेहद खास मायने हैं। बड़ी तादाद में समाजजन नमाज के लिए जुटते हैं और परवरदिगार को राजी करते हैं।

आज चांद रात तो कल ईद
शनिवार को 29 वां रोजा है और मगरिब की नमाज के बाद चांद दिखता है तो रविवार को मुस्लिम समाज ईदुल फितर का पर्व मनाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना