पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मकर संक्रांति पर नई सोच:पिछले साल 75% हरा चारा हुआ था खराब इसकी जगह खल और गुड़ का दान उपयोगी

रतलाम5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दान के लिए श्री गोपाल गोशाला न्यास के कल खुलेंगे चार काउंटर

मकर संक्राति यानी दान पुण्य का पर्व। इससे इस दिन बड़ी संख्या में शहरवासी गोशाला में पहुंच गायों का हरा चारा खिलाते हैं ताकि पुण्य मिल सके। लेकिन इस दिन बड़ी संख्या में लोगों द्वारा गोशालाओं में हरा चारा दान करने से गोशाला हरे चारे से भर जाती है। इससे गायें पूरा नहीं खा पाती और अगले दिन यह चारा खराब हो जाता है। गोशाला में दान दिया जाने वाले हरे चारे में से 75 फीसदी चारा खराब हो जाता है। ऐसे में लोग इस दिन हरे चारे की जगह गुड़, खली, कपास्या का दान कर सकते हैं। यह सूखा होने से इसे गायें बाद भी खा सकेंगी। वहीं लोग चाहें तो गोशाला में पहुंचकर हरे चारे की जगह नकद दान देकर रसीद भी कटवा सकते हैं ताकि गोशाला समिति बाद में गायों के लिए भोजन की व्यवस्था कर सके। इससे इस दिन होने वाली हरे चारे की बर्बादी रुक सकेगी। इसके लिए गोशाला रोड स्थित श्री गोपाल गोशाला न्यास द्वारा चार रसीद काउंटर की व्यवस्था की जा रही है ताकि लोग यहां दान कर सकें।

गायों के ज्यादा हरा चारा खाने से बीमार होने का भी बना रहता है अंदेशा

गोशाला रोड स्थित श्री गोपाल गोशाला समिति के प्रबंधक देवेंद्रसिंह चौहान ने बताया शहर में बीचोबीच गोशाला होने से मकर संक्रांति के दिन बड़ी संख्या में लोग आते हैं और गायों को हरा चारा डालते हैं। पिछले साल बड़ी मात्रा में हरा चारा इकट्‌ठा हो गया था। वहीं कई गायें ज्यादा मात्रा में खा लेती है। इससे बीमार होने का भी डर रहता है। इससे लोग इस दिन चाहे तो हरे चारे की जगह सूखी वस्तु जैसे खली, कपास्या और गुड़ का दान कर सकते हैं ताकि यह दान बाद में भी काम आ सके। वहीं लोगों की सुविधा के लिए इस दिन दान के लिए चार काउंटर खोले जाएंगे। लोग काउंटर पर दान कर रसीद कटवा सकते हैं ताकि हम जरूरत के हिसाब से गायों को चारा डाल सकें। इससे इस दिन होने वाली हरे चारे की बर्बादी रुक सकेगी।

वाघेला जीव दया समिति लोगों को कर रही जागरूक

मकर संक्राति पर गायों को हरा चार डालने के नाम पर होने वाली पैसों की बर्बादी रोकने के लिए वाघेला जीव दया समिति लोगों को जागरूक कर रही है। समिति द्वारा संचालित रोटी वाहन पर लगे लाउडस्पीकर से लोगों को समझाया जा रहा है। समिति के दिनेश वाघेला एवं बाबूलाल सिसौदिया ने बताया गोशालाओं में सामान्य परिस्थितियों में लगभग 100 लोग रोज हैं लेकिन मकर संक्रांति के दिन से सैकड़ों की संख्या में लोग गायों को चारा व गुड़ खिलाने गोशाला पहुंच जाते हैं। लोगों में यह सोच रहती है कि आज के दिन हम खिलाएंगे तो ही पुण्य प्राप्त होगा। इससे 75 फीसदी खाद्य पदार्थ खराब हो जाता है, इसीलिए हम लोगों से निवेदन कर रहे हैं कि आप मकर संक्रांति के दिन जो भी दान देना चाहे आप संकल्प ले लें और आगे कभी भी इस दान को कर सकते हैं। उसका भी उतना ही पुण्य प्राप्त होगा। वहीं मेहनत की कमाई व्यर्थ नहीं जाएगी।

^मकर सक्रांति महीने भर चलने वाला पर्व है। यह 14 जनवरी से 14 फरवरी तक रहता है। दान हम केवल मकर सक्रांति पर ही नहीं बल्कि महीने भर कर सकते हैं। क्योंकि यह महीने भर चलने वाला पर्व है। 12 राशियों में सूर्य के प्रवेश वाले दिन अर्थात प्रत्येक महीने की 14 तारीख को भी दान कर सकते हैं। लोगों का दान तभी सार्थक होता है जब उसका सदुपयोग हो। पं संजय त्रिवेदी, भागवताचार्य​​​​​​​​​​​​​​

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser