रेलवे में बढ़ रहा कोरोना:मंडल के 453 कर्मचारी पॉजिटिव, 26 की मौत, 60 रनिंग स्टाफ भी चपेट में

रतलाम6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फेस शील्ड पहन यात्रियों की चेकिंग करता अमला। - Dainik Bhaskar
फेस शील्ड पहन यात्रियों की चेकिंग करता अमला।
  • कर्मचारियों की सुरक्षा की फिक्र, स्टाफ में कमी करने के साथ हेल्पलाइन व कोविड कंट्रोल टीम बनाई

रेलवे में कोरोना वायरस अब सुपरफास्ट ट्रेन की रफ्तार से फैल रहा है। चौंकाने वाली संख्या मौत की है, अब तक मंडल के 26 कर्मचारियों को कोरोना लील चुका है। इसके अलावा दूसरी लहर में अब तक मंडल के 453 कर्मचारी पॉजिटिव हो चुके हैं। आंकड़े देख हैरान हुए अफसरों ने अब ताबड़तोड़ रेलकर्मियों की सुरक्षा के इंतजाम करना शुरू कर दिया है। हेल्पलाइन नंबर जारी करने के साथ कोविड कंट्रोल टीम बना दी गई है। अब कम यात्री संख्या वाली ट्रेनों को धीरे-धीरे करके बंद किया जा रहा है।

मुख्यालय के 25 ड्राइवर और 35 गार्ड भी पॉजिटिव- दूसरी लहर ट्रेन चला रहे रनिंग स्टॉफ को तेजी से चपेट में ले रही है। इसके चलते मंडल मुख्यालय की क्रू लॉबी का काम प्रभावित होने लगा है। हालत यह है कि 265 में से अब तक 25 ड्राइवर और 240 गार्ड में से 35 पॉजिटिव निकल चुके हैं। इसका कारण दूसरे स्टॉफ पर पड़ा है जिन्हें ओवरटाइम या जल्दी ड्यूटी पर बुलाया जा रहा है।

नियंत्रण के लिए पश्चिम रेलवे मुंबई मुख्यालय से भी हो रही मॉनिटरिंग

रेलवे में कोरोना लहर

  • अब तक मौत 26
  • पॉजिटिव 453
  • रिकवरी 107
  • वैक्सीनेशन- 4335 (45 से अधिक उम्र वालों का)

337 को लग चुका दूसरा डोज - वैक्सीनेशन का रेलवे भी प्राथमिकता दे रहा है। मंडल में 45 उम्र से अधिक वाले 5010 कर्मचारी हैं, इनमें से 88 प्रतिशत यानी 4335 को टीका लगाया जा चुका है। इसमें 337 ऐसे कर्मचारी हैं जिन्हें दूसरा डोज लग गया है।

कर्मचारियों को सुरक्षित रखने ये इंतजाम कर रहा रेलवे - 50 प्रतिशत वर्किंग स्टॉफ - डीआरएम सहित अन्य कार्यालयों में 50 प्रतिशत या उससे भी कम स्टॉफ को ड्यूटी पर बुलाया जा रहा है। बाकी सभी को वर्क फ्रॉम होम की मंजूरी दे दी गई है।

मैदानी अमला - चेकिंग और रनिंग स्टॉफ को मास्क/फेस शील्ड, हैंड सेनिटाइजर सहित अन्य साधन ड्यूटी के दौरान इस्तेमाल अनिवार्य किया।

कोविड कंट्रोल टीम - यह 24 घंटे सक्रिय रहती है। सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक बीएल राठौड़ (9424824195), दोपहर 2 से रात 10 बजे तक विनय कुमार मौर्य (9575286408), रात 10 से सुबह 6 बजे तक जितेंद्र कछावा (8103488937)

हेल्पलाइन नंबर - वैक्सीनेशन पूछताछ - डॉ. दीपक सकलेचा (9752492506), डॉ. अविनाश चंद्र (9752492509), कंट्रोल रूम - 9752496933, कोविड एंबुलेंस - 07412260532

ट्रेन निरस्त - अब तक कम यात्री संख्या 24 ट्रेनों को निरस्त किया जा चुका है। कुछ ओर की तैयारी है।

अब तक 70 शिक्षक कोरोना संक्रमित

शिक्षा विभाग में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। विभाग में अब तक 70 शिक्षक संक्रमित हो गए हैं जबकि चार दिन पहले यह आंकड़ा 39 के आसपास था। लगातार संक्रमण को देखते हुए शिक्षकों में भय है। वहीं कोरोना से अब तक जिले में 7 शिक्षकों की मौत हो चुकी है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग ने स्कूलों में छुट्टी घोषित कर रखी है। बावजूद कई शिक्षकों की कोरोना में ड्यूटी लगी है। शिक्षक सर्वे सहित अन्य काम में जुटे हैं। शिक्षकों में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

मप्र शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सर्वेश माथुर ने बताया कि कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। फिर भी हमारे शिक्षक साथी कोरोना में ड्यूटी दे रहे हैं। बावजूद सरकार ने अब तक उन्हें कोरोना योद्धा घोषित नहीं किया है। जिले सहित पूरे प्रदेश में अब तक 388 शिक्षक कोरोना की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। जो अन्य विभागों से कई ज्यादा है। सरकार ने अन्य विभागों के लोगों को तो कोरोना योद्धा घोषित कर दिया है। लेकिन शिक्षकों को घोषित नहीं किया है। जबकि शिक्षक ही सरकार के हर काम में कंधा से कंधा मिलाकर चलते हैं। बावजूद सरकार सुध नहीं ले रही है।

खबरें और भी हैं...