पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Mother And Brother Carrying Ratlam Medical College On Bike To Ailing Lawyer; On Returning From Not Getting A Bed, The Bike Broke On Its Own

बेड मिला न एंबुलेंस, चलती बाइक पर मौत:वकील को मेडिकल कॉलेज लाए भाई-मां; बेड न मिलने पर निजी अस्पताल ले जाते बाइक पर ही उखड़ गईं सांसें

रतलाम2 महीने पहले
रतलाम के राम मंदिर तिराहे पर बाइक पर इस तरह मां और भाई वकील को लेकर खड़े रहे।

रतलाम मेडिकल कॉलेज में बेड के लिए दो घंटे तक इंतजार करने के बाद निजी अस्पताल ले जाते समय मरीज ने बाइक पर ही दम तोड़ दिया। वकील सुरेश डागर की तबीयत खराब होने पर उन्हें उनके भाई अनिल और मां बाइक पर मेडिकल कॉलेज लेकर गए थे।

दो घंटे तक बेड के लिए जद्दोजहद करने के बाद भी जब मरीज को जगह नहीं मिली तो भाई अनिल उन्हें आयुष ग्राम प्राइवेट अस्पताल लेकर गए। वहां भी उन्हें निराशा ही हाथ लगी। इसके बाद दूसरे निजी अस्पताल ले जाते समय राम मंदिर तिराहे पर बीमार वकील की बाइक पर ही मौत हो गई। कोरोना संदिग्ध होने की वजह से बड़ी देर तक सड़क पर परेशान हो रहे परिवार की मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया। फिर मौके पर ड्यूटी कर रहे हैं पुलिसकर्मियों की मदद से शव को जिला अस्पताल पहुंचाया गया है।

वकील सुरेश डांगर की तबीयत पिछले कुछ दिनों से खराब चल रही थी। वह घर पर ही उपचार ले रहे थे। जहां मंगलवार को अचानक तबीयत बिगड़ने पर एंबुलेंस उपलब्ध नहीं होने से मां और भाई बाइक पर उन्हें मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचे थे। यहां जगह नहीं मिलने पर प्राइवेट अस्पताल ले जाते समय उन्होंने बाइक पर ही बीच सड़क दम तोड़ दिया। गौरतलब है कि रतलाम मेडिकल कॉलेज और सभी निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन वाले बेड बीते एक हफ्ते से भरे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...