पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Neither Encroachment Removed Nor Parking Arrangements In The Midst Of The Festive Season, The Result Was Jam Every Day From 7 Pm To 9 Pm.

यातायात समस्या:त्योहारी सीजन के बीच ना अतिक्रमण हटाया और न पार्किंग का इंतजाम, नतीजा शाम 7 से रात 9 बजे रोज लग रहा जाम

रतलाम14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कस्तूरबा नगर से सैलाना बस स्टैंड की तरफ जाने वाले वाहन सज्जन मिल गेट के सामने से मोड़ रहे हैं। फोर व्हीलर मोड़ने के दौरान जाम लग रहा है। - Dainik Bhaskar
कस्तूरबा नगर से सैलाना बस स्टैंड की तरफ जाने वाले वाहन सज्जन मिल गेट के सामने से मोड़ रहे हैं। फोर व्हीलर मोड़ने के दौरान जाम लग रहा है।
  • 9 महीने पहले शहर के चार बाजारों में ट्रैफिक सुधार के लिए किए प्रयास हो चुके हैं फेल, अब पॉकिंग लाइन ना ही बैरिकेड्स

त्योहारी भीड़ और जाम से मुक्ति के लिए ट्रैफिक पुलिस ने शहर के तीन प्रमुख मार्गों पर ट्रैफिक व्यवस्था में बदलाव किया है। इनमें श्रीराम मंदिर रोड, जावरा फाटक अंडरब्रिज और सैलाना बस स्टैंड शामिल है लेकिन ट्रैफिक पुलिस द्वारा यातायात सुधार के लिए की गई नई व्यवस्था जनता के लिए ही परेशानी बन गई है।

वजह सड़कें संकरी और फुटपाथ पर कब्जा होने से नई व्यवस्था से बार-बार जाम की स्थिति बन रही है और वाहन फंस रहे हैं। शाम 7 से रात 9 बजे तक तो बार-बार जाम लग रहा है और लोगों को परेशान होना पड़ रहा है।

9 महीने पहले ट्रैफिक सुधार के लिए किए प्रयासों की बात करें तो ट्रैफिक पुलिस ने प्रयास किए थे। पॉकिंग लाइन डाली थी और बैरिकेड्स लगाए थे लेकिन सड़कों पर हो रहे अतिक्रमण के कारण ये सारे प्रयास फेल साबित हुए थे।

शहर के तीन प्रमुख मार्गों पर ट्रैफिक व्यवस्था में बदलाव चार पहिया वाहनों के लिए मुसीबत बना

परेशानी : नई व्यवस्था में दूरी बढ़ी, सिर्फ टू-व्हीलर को ही मिल रही सहूलियत

1. कस्तूरबा नगर तिराहा- कस्तूरबा नगर की तरफ से श्रीराम मंदिर के लिए सीधे एंट्री बंद कर दी है। अब कस्तूरबा नगर की तरफ से आने वाले किसी वाहन चालक को श्री राम मंदिर या सैलाना बस स्टैंड की तरफ जाना है तो उसे पहले सज्जन मिल गेट की तरफ जाना होगा और सज्जन मिल तिराहे से वाहन मोड़ कर श्रीराम मंदिर पहुंचना पड़ता है। टू व्हीलर तो फिर भी आसानी से मुड़ जाते हैं लेकिन फोर व्हीलर फंस जाते हैं।

2. जवाहर नगर तिराहा- यहां अस्थायी बैरिकेड्स लगा दिए हैं। अब कस्तूरबा नगर से किसी को जवाहर नगर जाना है तो उसे भी सज्जन मिल गेट की तरफ जाकर गेट के सामने के तिराहे से होकर जवाहरनगर पहुंचना पड़ रहा है। वहीं जवाहर नगर से अलकापुरी जाना है तो उसे अपना वाहन कस्तूरबा नगर तिराहे से मोड़ना पड़ रहा है। इससे जाम लग रहा है।

3. जावरा फाटक अंडरब्रिज- अंडरब्रिज के आसपास भी बैरिकेड्स लगा दिए हैं। दिलबहार चौराहा से किसी जावरा फाटक अंडरब्रिज में जाना है तो उसे महू रोड पेट्रोल पंप से मुड़ना पड़ रहा है। यहां भी बड़े वाहनों को मोड़ने में दिक्कत आ रही है।

ये होना चाहिए

  • सज्जन मिल गेट की तरफ वाहन पलटने के लिए व्यवस्था करना थी। यहां फुटपाथ बना रखा है लेकिन फुटपाथ पर दुकानें लग रही हैं। वहीं फुटपाथ पर वाहन पार्क ना करते हुए सड़क पर पार्क किए जा रहे हैं।
  • कस्तूरबा नगर तिराहे पर भी यही हाल है। यहां फुटपाथ पर दुकानें लग रही हैं व वाहन पार्क हो रहे हैं। फुटपाथ खाली करवाकर यहां सही पार्किंग की व्यवस्था करने के बाद नई व्यवस्था लागू करना चाहिए।
  • कस्तूरबा नगर तिराहे पर पहले ट्रैफिक सिग्नल लगाने के प्रयास हो चुके हैं। हालांकि अभी तक इस पर अमल नहीं हुआ है।

मौजूदा हाल यह

1. चांदनी चौक : आजाद चौक के आसपास और आजाद चौक से त्रिपोलिया गेट तक बैरिकेड्स लगाए थे। एक महीने में हट गए।

2. गणेश देवरी : ट्रैफिक सुधार के लिए इस चौराहे पर भी बैरिकेड्स लगाए थे और पॉकिंग लाइन डाली थी। व्यवस्था खत्म
3. धानमंडी- धानमंडी में भी पाकिंग लाइन डाली थी और बैरिकेड्स लगाए थे लेकिन अब ना पॉकिंग लाइन बची है और ना ही बैरिकेड्स बचे हैं।
4. कॉलेज रोड शहर का प्रमुख रोड है। यहां भी ट्रैफिक सुधार के लिए बैरिकेड्स लगाए थे लेकिन यहां भी ट्रैफिक सुधार के सारे प्रयास फेल हो गए।

ट्रैफिक सुधार के लगातार प्रयास कर रहे : ट्रैफिक टीआई मोनिका चौहान ने बताया कि ट्रैफिक सुधार के प्रयास कर रहे हैं। यातायात व्यवस्थित करने के लिए ही ये नई व्यवस्था लागू की है। ट्रैफिक सुधार के लिए जो भी सुझाव आ रहे हैं उस पर अमल कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...