• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Notice To Railway Of Industries Department, Take Out Both Gates Of Goods Shed, Given Three Days Time

हटाना होंगे लोहे के पिलर:उद्योग विभाग का रेलवे को नोटिस, गुड्स शेड के दोनों गेट निकालो, तीन दिन का समय दिया

रतलामएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब लगा बड़ा झटका : रेलवे को मार्च में गुड्स शेड के शुरू होने की थी उम्मीद

धौंसवास स्टेशन के पास बने नए गुड्स शेड को लेकर उद्योग विभाग (डीआईसी) ने रेलवे को नोटिस जारी कर दिया है। इसमें आपत्ति के बावजूद औद्योगिक क्षेत्र की दोनों सड़कों पर लोहे के बड़े पिलर बनाकर लोहे के गेट लगा दिए हैं। इन्हें हटाने के लिए डीआईसी ने रेलवे को तीन दिन का समय दिया है। इस समय सीमा में भी रेलवे ने गेट नहीं हटाए तो सोमवार को डीआईसी कलेक्टर की अनुमति लेकर खुद गेट हटा देगा। इससे मार्च से गुड्स शेड चालू करने की जुगत लगाकर बैठे रेलवे को तगड़ा झटका लगा है। ट्रेडर्स एसोसिएशन पहले ही कवर शेड नहीं बनने तक माल की लोडिंग-अनलोडिंग शुरू नहीं करने का जवाब दे चुका है। रेलवे के अधिकारी अब समझौते की पतली गली तलाशने में जुट गए हैं।

उद्योग विभाग को इन कामों पर भी एतराज

  • इंडस्ट्रियल एरिया और गुड्स शेड के बीच लगाई बाउंड्रीवाॅल
  • रोड को मिलाकर बनाया गया प्लेटफॉर्म, डीआईसी ने 10 मीटर जमीन दी थी। रेलवे ने प्लेटफॉर्म व रोड अलग-अलग न बनाते हुए ट्रैक से इंडस्ट्रियल एरिया तक एक समान सीसी कर दिया।
  • शेड को सीधे महू-नीमच रोड से जोड़ने वाले उद्योग विभाग की रोड पर लगे निकासी द्वार से लेकर शेड बिल्डिंग तक भी रेलवे ने लोहे की जाली लगा दी है, इससे आगे की जमीन और खेतों पर आने-जाने का रास्ता बंद हो गया है।

पुताई केे ठेकेदार को दिया शेड का काम

काम तो चालू हो गया है लेकिन शेड के 700 मीटर लंबे प्लेटफॉर्म पर कवर शेड बनने में 5 से 6 माह लगना तय है। इसकी दो प्रमुख वजह है, पहली रेलवे ने पुताई करवाने वाले ठेकेदार को लोहे के कवर शेड बनाने का ठेका दे दिया है। उसने यह काम पेटी कांट्रेक्ट में किसी और को दे दिया है। नतीजा डेढ़ माह में सिर्फ पांच पिलर पर भी शेड का ढांचा बन पाया है, जबकि ऐसे 25 से ज्यादा पिलर हैं। इस हिसाब से बाकी का शेड बनने में कम से कम 6 माह तो लग ही जाएंगे।

... नहीं तो हम हटाएंगे
^एक तो रेलवे ने औद्योगिक क्षेत्र की रोड को प्लेटफॉर्म में शामिल करते हुए पूरे में सीसी वर्क कर दिया है। उस पर दोनों तरफ लोहे के गेट भी लगा दिए हैं। उन्हें हटाने के लिए रेलवे को नोटिस दिया है। तीन दिन में नहीं हटाए, तो हम हटाएंगे।
मुकेश शर्मा, महाप्रबंधक-उद्योग विभाग
^कवर शेड का निर्माण बहुत धीमा चल रहा है। लोडिंग-अनलोडिंग शुरू करने से पहले कवर शेड बनना बहुत जरूरी है। सुरक्षा के लिए कुछ अन्य इंतजाम रेलवे ने कर दिए हैं। इससे ट्रेडर्स को सुविधा होगी।
सुभाष जैन, अध्यक्ष ट्रेडर्स एसोसिएशन
^नया गुड्स शेड ट्रेडर्स और लोगों की सुविधा के लिए बनाया गया है। सरकारी डिपार्टमेंट का आपसी मामला है। दोनों मिलकर जल्द ही उसका निराकरण भी कर लेंगे। नियमानुसार जो भी होगा उसके अनुसार कदम उठाएंगे।
जेके जयंत, पीआरओ रेलवे

खबरें और भी हैं...