पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बड़ी सफलता:आपदा को अवसर में बदलकर रतलाम मंडल ने जीतीं आठ शील्ड

रतलाम13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डीआरएम गुप्ता व अधिकारियों को शील्ड प्रदान कर पुरस्कृत करते महाप्रबंधक कंसल। - Dainik Bhaskar
डीआरएम गुप्ता व अधिकारियों को शील्ड प्रदान कर पुरस्कृत करते महाप्रबंधक कंसल।
  • महाप्रबंधक आलोक कंसल ने मुंबई में हुए समारोह में डीआरएम विनीत गुप्ता को सौंपी शील्ड

महामारी की आपदा को अवसर में बदलकर काम करने का परिणाम रतलाम मंडल को आठ शील्ड के रूप में मिला। मुंबई मुख्यालय में हुए 66वें रेल सप्ताह समारोह में महाप्रबंधक आलोक कंसल ने मंडल रेल प्रबंधक विनीत गुप्ता को शील्ड देकर सम्मानित किया। यह मंडल के विभागों और उत्पादक इकाइयों द्वारा 2020-21 में विषम परिस्थिति में किए गए कार्य को लेकर दी गई है। आठ शील्ड में 6 एकल, जबकि दो संयुक्त रूप से दी गई है। उत्कृष्ट कार्य करने वाले मंडल के 16 अधिकारियों व कर्मचारियों को महाप्रबंधक ने व्यक्तिगत पुरस्कार से नवाजा। उधर दाहोद कारखाना को स्टोर शील्ड दी गई।

16 रेलकर्मी भी पुरस्कृत किए गए

  • इन्हें मिली एकल शील्ड - लेखा, सड़क संरक्षा कार्य (समपार फाटक के स्थान पर आरयूबी व आरओबी निर्माण को लेकर), रॉलिंग स्टॉक, चिकित्सा, बेस्ट लोडिंग, बेस्ट इंप्रूवमेंट।
  • इन्हें मिली संयुक्त शील्ड - वाणिज्य (पहले छह माह रतलाम और दूसरे छह माह मुंबई के पास रहेगी) कार्मिक (पहले छह माह भावनगर और दूसरे छह माह रतलाम के पास रहेगी)
  • इन्हें मिला व्यक्तिगत पुरस्कार - सुनील मीणा (वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक), सुमंत प्रसाद गुप्ता (वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर डीजल), मीर सिंह (मंडल बिजली इंजीनियर कर्षण-वितरण), रक्षित जैन (सहायक मंडल इंजीनियर), बिरदीचंद घांचा (सहायक मंडल वित्त प्रबंधक), अमित कुमार धनवारे (सहायक मंडल यांत्रिक इंजीनियर), योगेश पाटिल (मुख्य वाणिज्य निरीक्षक), राजेश कुमार सी (लोकाे पायलट मेल), विजय पाल (वरिष्ठ टेक्नीशियन), प्रदीप कुमार दीक्षित (सीनियर सेक्शन इंजीनियर), सरफराज नवाज (सीनियर सेक्शन इंजीनियर), नागेंद्र अग्रवाल (स्टेशन अधीक्षक), देवेंद्र सिंह चौहान (वरिष्ठ लिपिक), मंजू कैथवाल (एसआईपीएफ), नसीम एच खान (सीनियर सेक्शन इंजीनियर), हितेंद्र दीक्षित (वरिष्ठ लिपिक)।

चुनौतियां बहुत थीं क्योंकि महामारी का दौर था। बावजूद इसके विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों ने आपसी तालमेल से अच्छा काम किया। कार्यकुशलता सहित अन्य शील्ड मिलने के पीछे मंडल की पूरी टीम का योगदान रहा। अगले साल और अच्छा काम करेंगे। -विनीत गुप्ता, डीआरएम

खबरें और भी हैं...