रतलाम के आलोट में अनादि कल्पेश्वर की शाही सवारी:रतलाम के आलोट में अनादि कल्पेश्वर महादेव की शाही सवारी, तस्वीरों में कीजिये अनादि कल्पेश्वर के दर्शन

रतलाम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भगवान अनादि कल्पेशवर - Dainik Bhaskar
भगवान अनादि कल्पेशवर

रतलाम जिले के आलोट में आज अनादि कल्पेश्वर महादेव की परंपरागत शाही सवारी धूमधाम से निकाली जा रही है । अनादि कल्पेशवर की 5 शाही सवारियों में आज अंतिम शाही सवारी निकाली जा रही है। हालांकि कोरोना गाइडलाइन चलते सादगी पुर्ण तरीके से इस वर्ष की अंतिम शाही सवारी का आयोजन किया जा रहा है। उज्जैन के महाकाल की शाही सवारी की तर्ज पर ही रतलाम के आलोट में भी भगवान अनादि कल्पेश्वर महादेव की शाही सवारी निकाली जाती है।आलोट और आसपास के क्षेत्रों में इस आयोजन को लेकर धार्मिकजन बड़े उत्साह के साथ इस आयोजन में शामिल हो रहे है । नगर के प्रमुख मार्गों के भ्रमण के बाद भगवान अनादि कल्पेशवर की सवारी मंदिर पहुंचेगी ।

दरअसल प्रतिवर्ष सावन और भादो मास में अनादि कल्पेश्वर महादेव की चार से पांच सवारी नगर में निकाली जाती है। आज अंतिम सवारी के दिन नगर को दुल्हन की तरह सजाया गया है जाता रहा है। लगभग 56 वर्षों से इस सवारी को सुचारू रूप से निकालने के लिए एक समिति का गठन कर अंतिम सवारी को शाही रूप से निकाला जाता है। पूरे नगर में लाइट डेकोरेशन के अलावा तोरण द्वार एवं भगवा ध्वजाऐं लगाई गई है । पिछले 2 वर्ष से कोरोना गाइडलाइन की वजह से सवारी नगर भ्रमण के लिए नहीं आ सकी थी । वही इस वर्ष भी सवारी का आयोजन कोरोना प्रोटोकाल के अनुसार रखा गया है। हालांकि श्रद्धालुओं के उत्साह में कोई कमी नहीं है।

भगवान अनादि कल्पेश्वर की सवारी अपने पारंपरिक मार्ग से ढोल ताशे एवं बैंड बाजे साथ शाम 4:00 बजे अनादि कल्पेश्वर महादेव मंदिर से शुरू हुई।जहाँ आलोट थाना पुलिस ने भगवान अनादि कल्पेश्वर को गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया ।जिसके बाद भगवान अनादि कल्पेशवर की शाही सवारी का आयोजन जारी है।

खबरें और भी हैं...